1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. फेसबुक के संस्‍थापक और सीईओ ने इस्‍तीफा देने की योजना से किया इनकार, निवेशक बना रहे हैं दबाव

फेसबुक के संस्‍थापक और सीईओ ने इस्‍तीफा देने की योजना से किया इनकार, निवेशक बना रहे हैं दबाव

फेसबुक यूजर्स की जानकारी लीक होने के मामले में जांच का सामना कर रहे फेसबुक के चेयरमैन मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि उनकी इस्तीफा देने की अभी कोई योजना नहीं है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 21, 2018 17:03 IST
mark zukerberg- India TV Paisa
Photo:MARK ZUKERBERG

mark zukerberg

वॉशिंगटन। फेसबुक यूजर्स की जानकारी लीक होने के मामले में जांच का सामना कर रहे फेसबुक के चेयरमैन मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि उनकी इस्‍तीफा देने की अभी कोई योजना नहीं है। जुकरबर्ग पर निवेशकों द्वारा चेयरमैन पद से इस्तीफा देने का दबाव पड़ रहा है।

मंगलवार रात सीएनएन को दिए साक्षात्कार में जुकरबर्ग ने कहा कि यह समय उनके फेसबुक से इस्तीफा देने का नहीं है, जब फेसबुक के शेयर जुलाई में अपने सर्वश्रेष्ठ स्तर से 40 प्रतिशत कम होकर अब 132.43 डॉलर पर पहुंच गए हैं। फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ने कहा कि हमारी योजना यह नहीं है। मैं यह हमेशा नहीं करूंगा, लेकिन फिलहाल मुझे नहीं लगता कि यह बुद्धिमानी होगी।

यह साक्षात्कार न्यूयॉर्क टाइम्स की उस रिपोर्ट के बाद हुआ है जिसमें कहा गया था कि कैसे जुकरबर्ग और फेसबुक के मुख्य संचालन अधिकारी (सीओओ) शेरिल सांडबर्ग ने केंब्रिज एनालिटिका मामले के गंभीर संकेतों  को नजरंदाज किया और अपने प्रतिद्वंद्वियों की कमियों को उजागर करने के लिए रिपब्लिकन के स्वामित्व वाली राजनीतिक कंसल्टेंसी व पीआर कंपनी से करार किया।

जुकरबर्ग ने साक्षात्कार में कहा कि मैं कंपनी चलाता हूं। यहां होने वाली हर बात के लिए मैं जिम्मेदार हूं। मुझे नहीं लगता कि यह बात किसी विशेष पीआर कंपनी के बारे में है, यह इसके बारे में है कि हम कैसे काम करते हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में यह भी बताया गया था कि फेसबुक को 2016 में वसंत के मौसम में अपने प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल रूसी गतिविधियों के लिए होने की जानकारी थी।

फेसबुक ने अपने आलोचकों के विरोध तथा उनके खिलाफ भड़काऊ जानकारी फैलाने के लिए डिफाइनर्स पब्लिक अफेयर्स से करार किया था। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रूसी दखलंदाजी के मुद्दे पर जुकरबर्ग ने साक्षात्कार में कहा कि इसमें कोई शक नहीं है कि 2016 में हमें किसी बहुत जरूरी वस्तु की कमी खल रही थी।

उन्होंने कहा कि वह हमारी अपेक्षाओं के अनुसार नहीं था। काश मैं वो 2016 से पहले समझ जाता, जब रूस ने सबसे पहले इन सूचनाओं का उपयोग किया। फेसबुक के निवेशकों ने पिछले सप्ताह जुकरबर्ग पर चेयरमैन के पद से इस्तीफा देने का दवाब बढ़ाया था।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban