1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. Facebook को कर दो डिलीट, जानिए WhatsApp के सह-संस्‍थापक लोगों से क्‍यों कह रहे हैं ऐसा

Facebook को कर दो डिलीट, जानिए WhatsApp के सह-संस्‍थापक लोगों से क्‍यों कह रहे हैं ऐसा

मार्च में, फेसबुक के साथ अपने मतभेद को सार्वजनिक रूप से स्वीकार करने के बाद एक्टन ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों से अपने फेसबुक एकाउंट को डिलीट करने की बात कही थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 12, 2019 13:47 IST
Delete Facebook, reiterates WhatsApp co-founder Brian Acton- India TV Paisa
Photo:DELETE FACEBOOK

Delete Facebook, reiterates WhatsApp co-founder Brian Acton

सैन फ्रांसिस्‍को। व्‍हाट्सएप के सह-संस्‍थापक ब्रेन एक्‍टन ने एक बार फ‍िर लोगों से फेसबुक एकाउंट डिलीट करने का आह्वान किया है। यूजर की प्राइवेसी से छेड़छाड़ करने के आरोप में फेसबुक इन दिनों कठोर जांच का सामना कर रही है।  

वायर्ड की 25वीं वर्षगांठ समारोह में बोलते हुए एक्‍टन ने कहा कि वह फेसबुक को छोड़ने के अपने निर्णय पर अडिग हैं और ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों से ऐसा करने के लिए वह कहते रहेंगे। उन्‍होंने कहा कि यदि आप फेसबुक पर बने रहना चाहते हैं और आप यह चाहते हैं कि आपके सामने विज्ञापन की बाढ़ आ जाए, तो आप खुशी से ऐसा कर सकते हैं।

मार्च में, फेसबुक के साथ अपने मतभेद को सार्वजनिक रूप से स्‍वीकार करने के बाद एक्‍टन ने स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के छात्रों से अपने फेसबुक एकाउंट को डिलीट करने की बात कही थी। उन्‍होंने व्‍हाट्सएप को मार्क जुकरबर्ग को बेचने के अपने कारणों को भी पहली बार यहां बताया।  

एक्‍टन ने कहा कि हमनें उन्‍हें पावर दी है। यह बुरी बात है। हम उनके उत्‍पाद खरीदते हैं। हम इन वेबसाइट के लिए साइन-अप करते हैं। फेसबुक को तुरंत डिलीट कर दें। एक्‍टन ने जैन कौम के साथ मिलकर व्‍हाट्सएप की शुरुआत की थी। फेसबुक ने 2014 में 22 अरब डॉलर में व्‍हाट्सएप का अधिग्रहण किया था।

फोर्ब्‍स को दिए गए साक्षात्‍कार में एक्‍टन ने कहा था कि व्‍हाट्सएप के मौद्रिकरण को लेकर उनका फेसबुक के साथ मतभेद था और इसलिए उन्‍होंने कंपनी का साथ छोड़ दिया और 85 लाख डॉलर की राशि को भी हाथ से जाने दिया।

एक्‍टन ने कहा कि आखिरकार मैंने अपनी कंपनी को बेच दिया। मैंने अपने यूजर्स की प्राइवेसी को बेचा। मैंने ऐसा किया और मैंने एक समझौता किया। मैं इस गलती के साथ प्रति दिन जी रहा हूं। एक्‍टन ने आरोप लगाया कि मार्क जुकरबर्ग मैसेजिंग सेवा से पैसा कमाने और अपनी एनक्रिप्‍शन टेक्‍नोलॉजी के तत्‍वों को कमजोर बनाने की हड़बड़ी में था। एक्‍टन ने कहा‍ कि लक्षित विज्ञापन ही वह चीज है, जो मुझे पसंद नहीं है।  

Write a comment
bigg-boss-13