1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. BSNL को 2018-19 में हुआ 14,202 करोड़ रुपए का घाटा, 4जी सर्विस न होना है इसकी मुख्‍य वजह

BSNL को 2018-19 में हुआ 14,202 करोड़ रुपए का घाटा, 4जी सर्विस न होना है इसकी मुख्‍य वजह

मोबाइल सेगमेंट में गलाकाट प्रतियोगिता के कारण कम टैरिफ, उच्च कर्मचारी लागत और 4जी सेवाओं की अनुपस्थिति ऐसे प्रमुख कारण है, जिनकी वजह से बीएसएनएल को घाटा हो रहा है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 03, 2019 18:16 IST
BSNL loss pegged at Rs 14,202 crore in 2018-19- India TV Paisa
Photo:BSNL LOSS PEGGED AT RS 14

BSNL loss pegged at Rs 14,202 crore in 2018-19

नई दिल्‍ली। सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) को 2018-19 में 14,000 करोड़ रुपए का घाटा होने का अनुमान है। इसके साथ ही कंपनी का राजस्‍व भी घटकर 19,308 करोड़ रुपए रहने की संभावना है।

दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को लोक सभा में एक लिखित उत्‍तर में बताया कि सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल को 2014-15 में 4,859 करोड़ रुपए, 2016-17 में 4,793 करोड़, 2017-18 में 7,993 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है और 2018-19 में बढ़कर इसके 14,202 करोड़ रुपए तक पहुंचने का अनुमान है।

प्रसाद ने कहा कि मोबाइल सेगमेंट में गलाकाट प्रतियोगिता के कारण कम टैरिफ, उच्‍च कर्मचारी लागत और 4जी सेवाओं की अनुपस्थिति ऐसे प्रमुख कारण है, जिनकी वजह से बीएसएनएल को घाटा हो रहा है।  

2016 में रिलायंस जियो के आने के बाद से पूरा दूरसंचार उद्योग संकट में है और बीएसएनएल को भी अपने राजस्‍व में गिरावट का सामना करना पड़ रहा है। 2018-19 में बीएसएनएल का राजस्‍व 19,308 करोड़ रुपए रहने का अनुमान है। जबकि इससे पहले 2017-18 में यह 25,071 करोड़ रुपए और 2016-17 में 31,533 करोड़ रुपए था।

प्रसाद ने लोक सभा में बताया कि 2018-19 में बीएसएनएल का वेतन खर्च कुल राजस्‍व का 75 प्रतिशत है। बीएसएनएल ने वित्‍त वर्ष 2018-19 में अपने 1.7 लाख कर्मचारियों को वेतन देने पर 14,488 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

Write a comment