1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. भारत में 2016 के पहले दस महीने में 39,730 साइबर क्राइम

भारत में 2016 के पहले दस महीने में 39,730 साइबर क्राइम

एसोचैम-पीडब्ल्यूसी के संयुक्त अध्ययन के अनुसार 2016 के पहले दस महीने में देश में साइबर क्राइम के 39730 मामले हुए। वहीं 2015 में 49,455 मामले सामने आए थे।

Dharmender Chaudhary [Published on:18 Jan 2017, 7:40 PM IST]
भारत में 2016 के पहले दस महीने में 39,730 साइबर क्राइम, बैंकिंग सेक्टर की सुरक्षा बढ़ाने की जरूरत- India TV Paisa
भारत में 2016 के पहले दस महीने में 39,730 साइबर क्राइम, बैंकिंग सेक्टर की सुरक्षा बढ़ाने की जरूरत

नई दिल्ली। एसोचैम–पीडब्ल्यूसी के संयुक्त अध्ययन के अनुसार 2016 के पहले दस महीने में देश में साइबर क्राइम के 39730 मामले हुए। वहीं, वर्ष 2014 व 2015 में यह संख्या कुल मिलाकर 44,679 और 49,455 रही थी। रिपोर्ट के मुताबिक, इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पोंस टीम सीईआरटी-इन ने अक्टूबर 2016 तक साइबर क्राइम के मामले बढ़ने की रिपोर्ट दी है जबकि 39,730 सुरक्षा सेंध के मामले सामने आए।

ग्राहकों और कारोबारियों द्वारा डिजिटल भुगतान प्रणाली को बड़े पैमाने पर अपनाने की तैयारियों के बीच इस रिपोर्ट में बैंकिंग क्षेत्र की प्रणालियों की सुरक्षा बढ़ाने की आवश्यकता पर जोर दिया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले पांच साल में बैंकिंग प्रणालियों के मामले में साइबर अपराध की घटनाएं बंढ़ी है। अक्टूबर 2016 में एटीएम कार्ड हैकिंग से भारतीय बैंक भी प्रभावित हुए जिससे 32 लाख डेबिट कार्ड धारकों पर असर पड़ा।

तस्‍वीरों में देखिए 5,000 रुपए से कम कीमत वाले 4जी स्‍मार्टफोन्‍स

4G smartphones under 5K new

swipe-elite2IndiaTV Paisa

intex-aqua-starIndiaTV Paisa

panasonic-t45IndiaTV Paisa

lava-A76IndiaTV Paisa

xolo-era4gIndiaTV Paisa

इसमें कहा गया है कि इस तरह के साइबर हमलों को पकड़ने व प्रतिक्रिया में ज्यादा समय लगने के कारण भारत जैसे उदीयमान बाजारों में साइबर अपराध हमलों के लिए निवेश का रिटर्न अमेरिका जैसे विकसित बाजारों की तुलना में अच्छा है। नोटबंदी के बाद मोबाइल वॉलेट सहित अन्य एप की संख्या में बढोतरी का हवाला देते हुए इसमें कहा गया है कि बैंकिंग व वित्तीय क्षेत्र बहुत महत्वपूर्ण हो गया है।

Web Title: भारत में 2016 के पहले दस महीने में 39,730 साइबर क्राइम
Write a comment