1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. एंड्रॉइड यूजर्स सावधान: 'Joker' प्राइवेसी कर रहा लीक, चेक करें ये 24 ऐप्स तो नहीं है आपके स्मार्टफोन में

एंड्रॉइड यूजर्स सावधान: 'Joker' प्राइवेसी कर रहा लीक, चेक करें ये 24 ऐप्स तो नहीं है आपके स्मार्टफोन में

एंड्रॉइड यूजर्स ध्यान दें, फिर से एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स पर मालवेयर का अटैक हुआ है। गूगल प्ले स्टोर पर कुछ नए ऐप्स मालवेयर से प्रभावित पाए गए हैं। इन ऐप्स ने भारत समेत दुनियाभर के कई देशों के यूजर्स को टारगेट किया है। इन ऐप्स में जोकर 'Joker' नाम का मालेवयर पाया गया है, जो कि काफी खतरनाक माना जा रहा है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Published on: September 13, 2019 12:59 IST
android users beware- India TV Paisa

android users beware

नई दिल्ली। एंड्रॉइड यूजर्स ध्यान दें, फिर से स्मार्टफोन एंड्रॉइड यूजर्स पर मालवेयर का अटैक हुआ है। गूगल प्ले स्टोर पर कुछ नए ऐप्स मालवेयर से प्रभावित पाए गए हैं। इन ऐप्स ने भारत समेत दुनियाभर के कई देशों के यूजर्स को टारगेट किया है। इन ऐप्स में जोकर 'Joker' नाम का मालेवयर पाया गया है, जो कि काफी खतरनाक माना जा रहा है। ये मालवेयर चुपके से सब्सक्रिप्शन सर्विसेज के लिए यूजर्स का साइन अप कर रहा है, जिसकी भनक भी यूजर्स को नहीं लगती है। हैरानी की बात है कि ये ऐसे सब्सक्रिप्शन हैं, जिनमें यूजर्स को कई महीनों तक पेमेंट करना पड़ सकता है। 

दुनिया के कई देश मालवेयर से हैं प्रभावित

बता दें, Joker Virus मालवेयर 37 देशों में एक्टिव है। इनमे से भारत इस वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है। मालवेयर प्रभावित ज्यादातर ऐप्स ने यूरोपीय और एशियाई देशों को खासतौर पर टारगेट किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मालवेयर से काफी देश प्रभावित हुए हैं। इनमें ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, ब्राजील, चीन, साइप्रस, मिस्र, फ्रांस, जर्मनी, घाना, ग्रीस, होंडुरास, भारत, इंडोनेशिया, आयरलैंड, इटली, कुवैत, मलेशिया, म्यांमार, नीदरलैंड, नॉर्वे, पोलैंड, पुर्तगाल, कतर, अर्जेंटीना, सर्बिया, सिंगापुर, स्लोवेनिया, स्पेन, स्वीडन, स्विट्जरलैंड, थाईलैंड, तुर्की, यूक्रेन, संयुक्त अरब अमीरात, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देश शामिल हैं। इन मालवेयर्स को एग्जीक्यूट होने के लिए यूजर्स द्वारा सिम कार्ड यूज किए जाने की जरूरत होती है। 

24 ऐप्स में मौजूद था Joker मालवेयर

रिपोर्ट्स के अनुसार, गूगल ने पाया की Joker मालवेयर प्ले स्टोर से डाउनलोड के लिए 24 ऐप्स में मौजूद था। इन ऐप्स को करीब-करीब 472,000 बार डाउनलोड किया गया है। Google ने स्तिथि को बेहतर करने के लिए इन सभी ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है। साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर Aleksejs Kuprins ने जानकारी दी है कि इंफेक्टेड ऐप्स को गूगल ने प्ले स्टोर से हटा दिया है।

Joker Malware एंड्रॉइड यूजर्स की प्राइवेसी के लिए बहुत बड़ा खतरा है और यह यूजर्स को काफी हानि पहुंचा सकता है। यह मालवेयर चुपके से यूजर्स को प्रीमियम सब्सक्रिप्शन सेवाओं के लिए साइन-अप करवा लेता है। इसके बाद एसएमएस, कॉन्टेक्ट्स, IMEI नंबर समेत डिवाइस की जानकारी समेत डाटा बैकग्राउंड में रहकर चुरा लेता है। इसे कई एंड्रॉइड फोन यूजर्स ने अपनी डिवाइस में डाउनलोड भी कर लिया है।

एंड्राइड यूजर्स सतर्क जो जाएं आप भी इन Apps को तुरंत डिलीट कर दें 

  1. Advocate Wallpaper
  2. Age Face
  3. Altar Message
  4. Antivirus Security – Security Scan
  5. Beach Camera
  6. Board picture editing
  7. Certain Wallpaper
  8. Climate SMS
  9. Collate Face Scanner
  10. Cute Camera
  11. Dazzle Wallpaper
  12. Declare Message
  13. Display Camera
  14. Great VPN
  15. Humour Camera
  16. Ignite Clean
  17. Leaf Face Scanner
  18. Mini Camera
  19. Print Plant scan
  20. Rapid Face Scanner
  21. Reward Clean
  22. Ruddy SMS
  23. Soby Camera
  24. Spark Wallpaper

बैंक स्टेटमेंट कर लें चेक 

अगर आपने इनमें से कोई भी ऐप को अपने फोन में डाउनलोड किया है, तो उन्हें तुरंत अनइंस्टॉल कर दें। अगर आपको इनमे से कोई ऐप प्लेस्टोरे पर दिखे, तो उसे डाउनलोड ना करें। फोन से डिलीट करने के बाद अपने डाटा का बैकअप लेकर डिवाइस को फुल फैक्ट्री रिसेट कर दें। साथ ही अपने बैंक स्टेटमेंट चेक कर लें कि कहीं किसी सब्सक्रिप्शन के लिए आपको चार्ज तो नहीं किया गया है। 

जानिए क्या है मालवेयर वायरस?

मालवेयर (Malware) एक तरह का कंप्यूटर software ही होता है। Malicious Software अपने आप नहीं बनते इनको किसी डेवलपर या हैकर द्वारा ही बनाया जाता है जिससे वो हमारे कंप्यूटर को हानि पंहुचा सके। Malicious Software आपके कंप्यूटर में कई तरीको से आ सकते हैं। जैसे या तो आप खुद ही उन्हें गलती से डाउनलोड कर लें या किसी स्पैम ईमेल के जरिए या किसी वेबसाइट के जरिए क्यूंकि ऐसी कई वेबसाइट हैं जिन पर malicious सॉफ्टवेयर की लिंक उपलब्ध है और एक ही दिन में लोगों को ढेरों स्पैम ईमेल आते हैं इनमे से कितने ही लोग malware डाउनलोड भी कर लेते हैं और इनका शिकार हो जाते हैं।

ये कई प्रकार के होते है- Virus malware, Worms (वोर्म्स), Trojan horse (ट्रोजन हॉर्स), Ransomware (रैनसमवेयर), Spyware (स्पाईवेयर), Adware (ऐडवेयर) ये सब इसके प्रकार है।

Write a comment