1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. गैजेट
  5. Airtel मार्च तक पूरे भारत में बंद करेगी अपना 3G नेटवर्क, फाइबर कारोबार को बेचने की है योजना

Airtel मार्च तक पूरे भारत में बंद करेगी अपना 3G नेटवर्क, फाइबर कारोबार को बेचने की है योजना

एयरटेल ने कहा कि नेटवर्क अनुभव पर अपना ध्यान केंद्रित करने की रणनीति के तहत हम अपने 3जी नेटवर्क को 4जी नेटवर्क में अपग्रेड कर रहे हैं

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 02, 2019 19:15 IST
Airtel to shut down 3G network across India by Mar- India TV Paisa
Photo:AIRTEL TO SHUT DOWN 3G NE

Airtel to shut down 3G network across India by Mar

नई दिल्‍ली। टेलीकॉम दिग्‍गज भारती एयरटेल ने शुक्रवार को कहा कि वह मार्च 2020 तक पूरे देश में अपना 3जी नेटवर्क बंद कर देगी। इसकी प्रक्रिया कोलकाता सर्विस एरिया से शुरू हो चुकी है। कंपनी ने कहा कि वह अपना पूरा ध्‍यान अधिक राजस्‍व और एवरेज रेवेन्‍यू पर यूजर (एआरपीयू) पर कर रही है लेकिन कंपनी ने इस बात पर भी जोर दिया कि उद्योग व्‍यवहार्यता के लिए टैरिफ में दीर्घकालिक रूप से वृद्धि होनी चाहिए।

भारती एयरटेल के सीईओ (इंडिया और साउथ एशिया) गोपाल विट्टल ने कहा कि 3जी नेटवर्क को बंद करने की प्रक्रिया कोलकाता के साथ शुरू हो चुकी है और जून तिमाही में इसे यहां पूरा कर लिया गया है। उन्‍होंने कहा कि सितंबर तक और 6-7 सर्किल में इसे बंद कर दिया जाएगा। दिसंबर से मार्च 2020 के दौरान पूरे देश में 3जी नेटवर्क को बंद कर दिया जाएगा।

विट्टल ने कहा कि हां, हम तब अपग्रेड देखते हैं जब कोई 2जी से 4जी में जाता है। अप्रैल 2020 तक हमारे पास केवल 2जी और 4जी स्‍पेक्‍ट्रम होगा। कंपनी ने 84 लाख 4जी ग्राहक अपने साथ जोड़े हैं और उसके पास 12 करोड़ डाटा ग्राहक हैं, जिसमें से करीब 9.5 करोड़ 4जी पर हैं। भारती एयरटेल के उपभोक्‍ताओं द्वारा डाटा उपभोगत 11जीबी प्रति माह पर पहुंच गया है।

एयरटेल ने कहा कि नेटवर्क अनुभव पर अपना ध्‍यान केंद्रित करने की रणनीति के तहत हम अपने 3जी नेटवर्क को 4जी नेटवर्क में अपग्रेड कर रहे हैं और भारत में अपने 3जी नेटवर्क को बंद करने की प्रक्रिया में हैं।

विट्टल ने कहा कि हम अपनी फाइबर संपत्ति को 100 प्रतिशत सब्सिडियरी को ट्रांसफर कर रहे हैं और इसके लिए हमारे पास सभी मंजूरिया हैं। यह पूरी प्रक्रिया चालू तिमाही में पूरी होने की संभावना है। मौद्रिकरण के लिए हम लगातार अवसरों की तलाश कर रहे हैं और सही समय पर हम सही कदम उठाएंगे। उल्‍लेखनीय है कि एयरटेल को चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में 2,866 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ है।

Write a comment