1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Strategy – बड़ी कंपनियों के IPO कतार में, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें

Strategy – बड़ी कंपनियों के IPO कतार में, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें

कैफे कॉफी डे, इंडिगो और इंफीबीम जैसे बड़े ब्रांड के IPO (प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम) के साथ भारतीय आईपीओ बाजार इस साल बेहतर प्रदर्शन कर रहा है।

Surbhi Jain Surbhi Jain
Published on: October 14, 2015 11:16 IST
Strategy – बड़ी कंपनियों के IPO कतार में, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें- India TV Paisa
Strategy – बड़ी कंपनियों के IPO कतार में, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें

नई दिल्‍ली। कैफे कॉफी डे, इंडिगो और इंफीबीम जैसे बड़े ब्रांड के IPO (प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम) के साथ भारतीय आईपीओ बाजार इस साल गुलजार होने को तैयार है। प्राइम डाटाबेस के मुताबिक वित्‍त वर्ष 2015-16 की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में आईपीओ के जरिए कंपनियां 4,950 करोड़ रुपए और ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये 12,916 करोड़ रुपए बाजार से जुटा चुकी हैं। प्राइम डाटाबेस के मुताबिक चालू वित्‍त वर्ष के अंत तक कंपनियों ने आईपीओ के जरिये 20,000 करोड़ रुपए की राशि जुटाने की योजना बनाई है। ऐसे में आम निवेशकों के पास निश्चित तौर पर अच्छे निवेश विकल्प होंगे लेकिन साथ ही निवेशकों को बेहद सतर्क रहने की भी जरूरत है। आगे कई कंपनियों के आईपीओ आने वाले हैं, ऐसे में आपको उनमें से चुनिंदा कंपनियों में निवेश करना होगा जो आपको अच्‍छा रिटर्न दे सके।

कैफे कॉफी डे

कॉफी डे एंटरप्राइजेज (कैफे कॉफी डे चेन का संचालन करती है) का IPO 14 अक्‍टूबर को आने वाला है। कंपनी ने आईपीओ के जरिये 1150 करोड़ रुपए जुटाने की योजना बनाई है। इस राशि से कंपनी अपना विस्‍तार करेगी। हेम सिक्‍यूरिटीज का कहना है कि छोटे निवेशकों को इस आईपीओ से बचना चाहिए। पिछले कुछ सालों से कंपनी घाटे में है, जिससे निवेशकों को शॉर्ट टर्म में रिटर्न मिलने की उम्‍मीद कम है। लंबी अवधि के लिए निवेश किया जा सकता है, लेकिन रिटर्न तभी मिलेगा जब कंपनी मुनाफे में आएगी। वित्‍त वर्ष 2014-15 में कंपनी को कुल 77 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।

इंडिगो

लॉ कॉस्‍ट एयरलाइन इंडिगो की पैरेंट कंपनी इंटरग्‍लोब एविएशन भी आईपीओ लाने के लिए तैयार है। सेबी ने इसे 2500 करोड़ रुपए जुटाने के लिए आईपीओ लाने की मंजूरी दी है। उम्‍मीद की जा रही है कि अक्‍टूबर के अंतिम सप्‍ताह में इसका आईपीओ आएगा। इंडिगो देश की मुनाफा कमाने वाली अकेली लॉ कॉस्‍ट एयरलाइन है। जब सारी एविएशन इंडस्‍ट्री घाटे में चल रही है उस दौर में भी इंडिगो मुनाफा कमा रही है। इंडिगो पिछले सात साल से लगातार मुनाफा कमाने वाली एयरलाइंस है। वित्‍त वर्ष 2014-15 में कंपनी को कुल 1304 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ था।

इंफीबीम

इंफीबीम देश की पहली ई-कॉमर्स कंपनी है, जो अपना आईपीओ लेकर आ रही है। इंफीबीम को 2007 में लॉन्‍च किया गया था। इंफीबीम दो कंपनियों इंफीबीम डॉट कॉम और बिल्‍डएबाजार डॉट कॉम का वेबसाइट का संचालन करती है। पिछले सल सोनी म्‍यूजिक ने कंपनी की डिजिटल एंटरटेनमेंट कंपनी इनडेंट में 26 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदी है। कंपनी आईपीओ से मिली राशि का उपयोग अपना बिजनेस बढ़ाने में करेगी। इससे कंपनी क्‍लाउड डाटा सेंटर और 75 लॉजिस्टिक सेंटर की भी स्‍थापना करेगी।

20 हजार करोड़ जुटाने की योजना

प्राइम डाटाबेस के मुताबिक पूंजी बाजार रेग्‍यूलेटर सेबी ने इस साल अभी तक सीसीडी और इंडिगो समेत कुल 17 कंपनियों को आईपीओ लाने की मंजूरी दी है। इसके अलावा 17 अन्‍य कंपनियां सेबी से मंजूरी मिलने का इंतजार कर रही हैं। ऐसा अनुमान है कि यह सभी 34 कंपनियां संयुक्‍त रूप से बाजार से 20,000 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की राशि जुटा सकती हैं।

पिछले 10 सालों के दौरान पहली छमाही में इक्विटी सेल के जरिये कंपनियों द्वारा जुटाई गई राशि का ब्‍यौरा:

Graph No

Source: PRIME Database

Write a comment
bigg-boss-13