1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने जताई उम्मीद, नीति आयोग की बैठक में आएंगी ममता बनर्जी

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने जताई उम्मीद, नीति आयोग की बैठक में आएंगी ममता बनर्जी

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार को उम्मीद है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आयोग की संचालन परिषद की 15 जून को होने वाली बैठक में शामिल होंगी।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Published on: June 08, 2019 15:32 IST
Vice Chairman Rajiv Kumar hope West Bengal CM attends Niti Aayog governing council meet- India TV Paisa

Vice Chairman Rajiv Kumar hope West Bengal CM attends Niti Aayog governing council meet

नयी दिल्ली। नीति आयोग के उपाध्यक्ष (Niti Aayog Vice Chairman) राजीव कुमार को उम्मीद है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) आयोग की संचालन परिषद की 15 जून को होने वाली बैठक में शामिल होंगी। कुमार ने शनिवार को कहा कि हमने उन्हें पूरे सम्मान के साथ आमंत्रित किया है और मुझे अभी भी उम्मीद है कि वह मेरा व्यक्तिगत निमंत्रण स्वीकार करेंगी और 15 जून की बैठक में शामिल होकर नीति आयोग में और सुधार के लिए अपने विचारों से हमें अवगत कराएंगी।

Related Stories

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में शामिल होने से इनकार करते हुए कहा है कि यह बेकार की कवायद है क्योंकि आयोग को राज्यों की योजनाओं के समर्थन के लिए किसी तरह का अधिकार नहीं है। मोदी नीति आयोग की संचालन परिषद की पांचवीं बैठक की अध्यक्षता करेंगे। इस बैठक में देश के विकास से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इस बैठक में शामिल नहीं होने के बारे में सूचित किया है। 

बनर्जी ने पत्र में लिखा है कि नीति आयोग के पास वित्तीय अधिकार नहीं है और उसके पास राज्यों की योजनाओं का समर्थन करने के लिए भी अधिकार नहीं हैं। ऐसे में आयोग की बैठक एक बेकार की कवायद है। कुमार ने कहा कि नीति आयोग के पास प्रोत्साहन देने का अधिकार है और वह प्रतिस्पर्धा तथा सहकारिता के संघवाद के आधार पर आगे बढ़ता है। 

इससे पहले एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुमार ने कहा कि देश की आर्थिक वृद्धि की रफ्तार को तेज करने के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, निर्यात और निजी निवेश जैसे क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। 

Write a comment
yoga-day-2019