1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. डिप्रेशन में थे सिद्धार्थ, दो दिन पहले ही 'कैफे कॉफी डे' कर्मचारियों से चिट्ठी लिखकर कहा 'फेल हो गया बिजनेस मॉडल'

डिप्रेशन में थे सिद्धार्थ, दो दिन पहले ही 'कैफे कॉफी डे' कर्मचारियों से चिट्ठी लिखकर कहा 'फेल हो गया बिजनेस मॉडल'

कैफे कॉफी डे यानि कि सीसीडी के मालिक सिद्धार्थ ने दो दिन पहले ही अपने कर्मचारियों को चिट्ठी लिखी थी। जिसमें उन्होंने बिजनेस मॉडल फेल होने की बात कही थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: July 30, 2019 11:17 IST
vg siddhartha missing letter- India TV Paisa

vg siddhartha missing letter

कैफे कॉफी डे के मालिक और कर्नाटक के पूर्व सीएम एसएम कृष्‍णा के दामाद वीजी सिद्धार्थ के गायब होने से बिजनेस से लेकर राजनीतिक जगह तक सकते में है। सिद्धार्थ कर्नाटक के मंगलुरु स्थित नेत्रावती नदी के बने पुल के पास गायब बताए जा रहे हैं। पुलिस कल शाम से सिद्धार्थ की तलाश कर रही है। लेकिन इस बीच एक खुलासे ने सभी को चौंका दिया है। दरअसल कैफे कॉफी डे यानि कि सीसीडी के मालिक सिद्धार्थ ने दो दिन पहले ही अपने कर्मचारियों को चिट्ठी लिखी थी। जिसमें उन्‍होंने बिजनेस मॉडल फेल होने की बात कही थी। 

सीसीडी के कर्मचारियों को भेजी यह चिट्ठी सामने आई है। सिद्धार्थ ने यह चिट्ठी 27 जुलाई को अपने कर्मचारियों को लिखी थी। इसमें उन्‍होंने माना था कि उनका बिजनेस मॉडल फेल हो गया है। साथ ही आयकर विभाग की रेड के चलते डिप्रेशन में होने की बात भी उन्‍होंने चिट्ठी में लिखी थी। साथ ही तमाम कोशिशों के बावजूद स्थिति को न ठीक कर पाने के लिए उन्होंने निराशा जाहिर की थी।

CCD Letter

कंपनी ने BSE और NSE को दी जानकारी 

अपने फाउंडर के लापता होने की खबर कैफे कॉफी डे ने स्‍टॉक एक्‍सचेंज को भी दी है। बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज और नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज में लिस्‍टेड इस कंपनी ने अपने चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्‍टर के लापता होने की खबर दी है। इसमें कहा गया है कंपनी की कमान अभी भी योग्‍य लीडरशिप के हाथ में है। यह टीम आगे भी बिजनेस को आगे लेकर जाएगी। 

VG Siddhartha

पुलिस ने शुरू की तलाश

पुलिस ने बताया कि दक्षिण कन्नड़ जिले के कोटेपुरा इलाके में नेत्रवती नदी पर बने पुल के पास वह कार से उतर गए और उन्होंने चालक से कहा कि वह टहलने जा रहे हैं। 200 से अधिक पुलिसकर्मी और गोताखोर 25 नौकाओं के जरिए उनकी तलाश कर रहे हैं। उपायुक्त ने बताया कि खोजी कुत्तों की भी मदद ली जा रही है। मंगलुरु के पुलिस आयुक्त संदीप पाटिल ने एक संदेश में कहा, ‘‘ तलाश में स्थानीय मछुआरों की मदद ली जा रही है। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि उन्होंने किस-किससे फोन पर बात की थी। 

Write a comment