1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अमेरिका ने भारत को दी नाटो देशों जैसी रियायत, उच्च प्रौद्योगिकी उत्पाद बिक्री के लिये निर्यात नियंत्रण में ढील दी

अमेरिका ने भारत को दी नाटो देशों जैसी रियायत, उच्च प्रौद्योगिकी उत्पाद की बिक्री के लिये निर्यात नियंत्रण में ढील दी

वर्तमान में इस सूची में 36 देश हैं और भारत इसमें शामिल होने वाला एकमात्र दक्षिण एशियाई देश है। अन्य एशियाई देशों में जापान और दक्षिण कोरिया शामिल है

Edited by: India TV Paisa Desk [Published on:31 Jul 2018, 9:01 AM IST]
US elevates India's status to NATO level by easing high tech products sales norms- India TV Paisa

US elevates India's status to NATO level by easing high tech products sales norms

नई दिल्ली/वॉशिंगटन अमेरिका ने आज भारत को सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (एसटीए-1) देश का दर्जा देकर उसके लिये उच्च प्रौद्योगिकी उत्पाद की बिक्री के लिये निर्यात नियंत्रण में रियायत दी है। भारत एकमात्र दक्षिण एशियाई देश है, जिसे इस सूची में शामिल किया गया है। अमेरिका के 2016 में भारत को "प्रमुख रक्षा सहयोगी" के रूप में मान्यता देने के बाद उसे एसटीए-1 का दर्जा हासिल हुआ। अमेरिका ने इस तरह का दर्ज अपने सहयोगी नाटो देशों को दिया हुआ है।

यह दर्जा हासिल होने से भारत अमेरिका से अत्याधुनिक और संवेदनशील प्रौद्योगिकी खरीद पायेगा। अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विलबर रॉस ने कहा कि अमेरिका ने भारत को सामरिक व्यापार प्राधिकरण एसटीए -1 का दर्जा प्रदान किया है। निर्यात नियंत्रण व्यवस्था में भारत की स्थिति में यह "एक महत्वपूर्ण परिवर्तन है। 

यूएस चैंबर्स ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित भारत-प्रशांत बिजनेस फोरम के पहले आयोजन में रॉस ने कहा कि एसटीए-1 दर्जा भारत-अमेरिका के सुरक्षा और आर्थिक संबंधों को "मान्यता" देता है। यह दर्जा वाणिज्य नियंत्रण सूची (सीसीएल) में निर्दिष्ट वस्तुओं के निर्यात, पुन: निर्यात और हस्तांतरण की अनुमति देता है। 

वर्तमान में इस सूची में 36 देश हैं और भारत इसमें शामिल होने वाला एकमात्र दक्षिण एशियाई देश है। अन्य एशियाई देशों में जापान और दक्षिण कोरिया शामिल है। 

Web Title: अमेरिका ने भारत को दी नाटो देशों जैसी रियायत, उच्च प्रौद्योगिकी उत्पाद की बिक्री के लिये निर्यात नियंत्रण में ढील दी
Write a comment
the-accidental-pm-300x100