1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. रुपया 13 पैैैैसे और लुढ़का, टीवी-फ्रिज से लेकर मोबाइल लैपटॉप तक हो जाएंगे 6 फीसदी तक महंगे

रुपया 13 पैैैैसे और लुढ़का, टीवी-फ्रिज से लेकर मोबाइल लैपटॉप तक हो जाएंगे 6 फीसदी तक महंगे

टीवी, फ्रिज, वॉशिंग मशीन, माइक्रोवेव से लेकर मोबाइल और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक प्रॉडक्ट्स की कीमतों में जबर्दस्‍त इजाफा हो सकता है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: August 24, 2018 12:40 IST
Electronic goods- India TV Paisa

Electronic goods

नई दिल्‍ली। भारतीय रुपए में गिरावट का दौर जारी है। शुक्रवार को करेंसी मार्केट में भारतीय रुपया 13 रुपए और लुढ़क गया। आयातकों और बैंकों की मांग निकलने से आज शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया 13 पैसे और गिरकर 70.24 रुपये प्रति डालर पर आ गया।रुपए की यह गिरावट जल्‍द ही आपकी जेब पर भी असर डाल सकती है।

Related Stories

पिछले महीने जीएसटी दरें घटने से सस्‍ते हुए टीवी, फ्रिज, वॉशिंग मशीन, माइक्रोवेव से लेकर मोबाइल और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक प्रॉडक्ट्स की कीमतों में जबर्दस्‍त इजाफा हो सकता है। कंपनियां जल्द ही कीमतों में 3 से 6 फीसदी तक का इजाफा कर सकती हैं। मीडिया खबरों में मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक प्रॉडक्ट्स क्षेत्र की दो दिग्‍गज कंपनियों एलजी और सैमसंग ने इस सप्‍ताह तक प्रॉडक्ट्स की कीमतों में 3 से 5.5 फीसदी तक का इजाफा करने का फैसला लिया है। वहीं दूसरे ब्रांड भी इसी तैयारी में है।

अंग्रेजी अखबार इकोनोमिक टाइम्‍स में छपी खबर के अनुसार सैमसंग और एलजी के अलावा कंप्यूटर निर्माता लेनोवो ने भी 3 से 4 प्रतिशत तक प्रोडक्‍ट महंगे करने का फैसला किया है। इस बढ़ोत्‍तरी के बाद कंपनी के प्रोडक्‍ट की कीमतें 700 से 3,000 रुपए तक महंगी हो जाएंगी। वहीं अभी तक सिर्फ ऑनलाइन बाजार में उपस्थित अमेरिकी कंपनी कोडैक और थॉमसन जैसी दूसरी कंपनियों के 32 इंच से महंगे एलईडी टीवी के दाम 1,000 से 2,200 रुपए तक बढ़ जाएंगे।

इले‍क्‍ट्रॉनिक कंपनियां भले ही भारत में प्रोडक्‍ट निर्माण करती हैं। लेकिन ये अपने अधिकतर प्रोडक्‍ट चीन, ताइवान सहित दूसरे देशों से आयात करती हैं। डॉलर की कीमत फिलहाल 70 रुपए के पार है, जबकि इन कंपनियों ने 66 से 67 रुपए का बैंचमार्क तय किया था। ऐसे में रुपए में गिरावट के चलते ज्‍यादा समय तक कीमतें स्थिर रखना कंपनियों के लिए मुश्किल होता जा रहा है।

Write a comment