1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Feel a Pinch: कम उत्पादन महंगे टमाटर की नहीं वजह, कमजोर सप्लाई से चढ़े दाम

Feel a Pinch: कम उत्पादन महंगे टमाटर की नहीं वजह, कमजोर सप्लाई से चढ़े दाम

टमाटर की आसमान छूती की कीमतों वजह उत्पादन में कमी नहीं है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि टमाटर के उत्पादन में कोई गिरावट नहीं आई है।

Dharmender Chaudhary [Updated:24 Nov 2015, 3:38 PM IST]
Feel a Pinch: कम उत्पादन महंगे टमाटर की नहीं वजह, कमजोर सप्लाई से चढ़े दाम- India TV Paisa
Feel a Pinch: कम उत्पादन महंगे टमाटर की नहीं वजह, कमजोर सप्लाई से चढ़े दाम

नई दिल्ली। टमाटर की आसमान छूती की कीमतों वजह उत्पादन में कमी नहीं है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि टमाटर के उत्पादन में कोई गिरावट नहीं आई है। टमाटर की कीमतें चढ़ने की प्रमुख वजह बारिश के कारण दक्षिण भारत से सप्लाई की कमी है। इसके कारण टमाटर की कीमतें बढ़कर लगभग 60 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गई हैं। प्याज, मटर के बाद टमाटर की कीमतें चढ़ने से आम आदमी की परेशानी बढ़ी है।

सप्लाई बढ़ने पर घटेगी कीमत

एक समारोह के दौरान पासवान ने कहा, देश में टमाटर के उत्पादन में कोई कमी नहीं है। दक्षिण भारत में बारिश और परिवहन की समस्याओं के कारण कीमतें बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि टमाटर की कीमतों में तेजी मौसमी मामला भी है और कीमत की स्थिति, आपूर्ति में सुधार के साथ सामान्य हो जाएगी। अधिकांश रिटेल बाजारों में टमाटर की कीमतों में पिछले कुछ दिनों में भारी तेजी आई है और यह 60 रुपए प्रति किलो के पास पहुंच गई हैं। वहीं, बारिश की वजह से चेन्नई में पिछले सप्ताह प्याज की कीमत 80 रुपए प्रति किलो हो गई।

डिमांड और सप्लाई में गैप से महंगी हुई दालें

कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा ने पिछले हफ्ते टमाटर कीमत की स्थिति की समीक्षा की थी और संबंधित मंत्रालय को निर्देश दिया कि कीमतों पर करीबी निगाह रखें। दालों की महंगाई के बारे में पासवान ने कहा कि कीमतों में बढ़ोत्तरी मुख्यत: दलहनों की मांग और आपूर्ति में भारी अंतर के कारण है। कुछ दलों के भाव अब भी 180 रुपए प्रति किलो के ऊपर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने दलहनों की कीमतों में तेजी को नियंत्रित करने के लिए इसके स्टॉक रखने की सीमा को लागू करने और जमाखोरों, आयातकों के खिलाफ कार्रवाई सहित कई अन्य उपाए किए हैं। पासवान ने कहा कि दलहनों का उत्पादन करीब 1.75 करोड़ टन का है जबकि इसकी मांग करीब 2.5 करोड़ टन की है।

Web Title: कम उत्पादन महंगे टमाटर की नहीं वजह, कमजोर सप्लाई से चढ़े दाम
Write a comment