1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकार किसी एप पर यदि रोक लगाती है, तो टेलीकॉम कंपनियों को करना होगा अनुपालन

सरकार किसी एप पर यदि रोक लगाती है, तो टेलीकॉम कंपनियों को करना होगा अनुपालन

दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनियों के संगठन सीओएआई (COAI) ने कहा है कि यदि सरकार किसी मोबाइल एप पर रोक लगाती है तो सेवाप्रदाता कंपनियों को इसे मानना होगा।

Edited by: India TV Paisa Desk [Published on:08 Aug 2018, 9:01 AM IST]
Messaging Apps- India TV Paisa

Messaging Apps

नई दिल्ली दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनियों के संगठन सीओएआई (COAI) ने कहा है कि यदि सरकार किसी मोबाइल एप पर रोक लगाती है तो सेवाप्रदाता कंपनियों को इसे मानना होगा। हालांकि, किसी खास एप पर गौर करना और उसे बंद करना बहुत मुश्किल काम है। सीओएआई के महानिदेशक राजन एस मैथ्यूज ने कहा कि यह एक कठिन काम है। अगर यह कानून बन जाता है या सरकार ऐसा आदेश देती है तो निश्चित तौर पर हमें इसे मानना होगा।

सूचना प्रसारण मंत्रालय के एक प्रश्न पर दूरसंचार विभाग ने दूरसंचार कंपनियों से व्हाट्सएप, फेसबुक और टेलीग्राम जैसी एप को बंद करने के बारे में उनके विचार मांगे हैं।

मैथ्यूज ने कहा कि अभी इस सवाल की प्रकृति संभावना तलाशने जैसी है। हम कह रहे हैं कि यदि राष्ट्रीय सुरक्षा, देश की सुरक्षा या नागरिकों की सुरक्षा को एक स्तर तक नुकसान होने की संभावना दिखती है तो लाइसेंस की शर्तों के तहत हमें ऐसा करना होगा।

उन्होंने कहा कि दूरसंचार विभाग यदि इस संबंध में आदेश देता है तो हमें देखना होगा कि इसे कैसे किया जा सकता है। हालांकि, दूरसंचार विभाग ने इस तरह किसी एप पर प्रतिबंध लगाने की इच्छा से इंकार किया है। सीओएआई की सदस्य कंपनी एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया और रिलायंस जियो हैं।

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Write a comment
pulwama-attack
australia-tour-of-india-2019