1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. फ्लिपकार्ट की छुट्टी करने आया टाटा, टीवी-एसी और मोबाइल पर देगा भारी डिस्‍काउंट

फ्लिपकार्ट की छुट्टी करने आया टाटा, टीवी-एसी और मोबाइल पर देगा भारी डिस्‍काउंट

टाटा ग्रुप अपने ईकॉमर्स वेंचर टाटा क्लिक के माध्‍यम से पहले ही इस बाजार में प्रवेश कर चुका है। अब कंपनी अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए भारी डिस्‍काउंट देने का फसला किया है।

Sachin Chaturvedi Sachin Chaturvedi
Published on: March 30, 2018 12:58 IST
टाटा- India TV Paisa

टाटा

नई दिल्‍ली। भारतीय ईकॉमर्स बाजार में इस समय फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी कंपनियों का बोलबाला है। लेकिन अब इस बाजार में देश की सबसे प्रतिष्ठित कंपनी टाटा अपना प्रभुत्‍व जमाने की तैयारी में है। टाटा ग्रुप अपने ईकॉमर्स वेंचर टाटा क्लिक के माध्‍यम से पहले ही इस बाजार में प्रवेश कर चुका है। अब कंपनी अपनी रणनीति में बदलाव करते हुए भारी डिस्‍काउंट देने का फसला किया है। अब कंपनी स्‍मार्टफोन, टीवी सहित एयर कंडीशनर जैसी श्रेणियों में भारी डिस्‍काउंट देगा। माना जा रहा है कि टाटा का यह डिस्‍काउंट गेम आने वाले समय में भारतीय ईकॉमर्स ग्राहकों को तो फायदा देगा साथ ही भारतीय बाजार में एक नए प्राइस वॉर की भी शुरुआत करेगा।

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक टाटा क्लिक की मौजूदा रणनीति की बात करें तो यहां पर अधिकतर प्रोडक्‍ट रिटेल स्‍टोर की कीमत के आसपास ही तय किए गए हैं। जिसके चलते यह अधिक संख्‍या में ग्राहकों को आकर्षिक करने में अभी तक कामयाब नहीं हो पाई है। इसे देखते हुई कंपनी ने भारी डिस्‍काउंट के साथ ग्राहकों को लुभाने की रणनीति तैयार की है। कंपनी के मौजूदा पोर्टफोलियो के अनुसार ईकॉमर्स मार्केट की कुल सेल्‍स में इलेक्‍ट्रॉ‍निक्‍स और कंज्‍यूमर ड्यूरेब‍ल्‍स की हिस्‍सेदारी 50 से 55 फीसदी है। अब कंपनी इसी क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत बनाना चाहती है। कंपनी का फोकस दिवाली जैसे बड़े मौकों में अपनी सेल्‍स बढ़ाने पर है।

अखबार की खबर के मुताबिक टाटा क्लिक ने अपनी नई रणनीति के तहत अपने प्रोडक्‍ट के दाम फ्लिपकार्ट और एमेजॉन के बराबर कर दिए हैं। वहीं कई प्रमुख कैटेगरी में दाम इनसे भी काफी कम हैं। टाटा क्लिक की बात करें तो कंपनी ने अपनी शुरुआत मई 2016 में की थी। यह टाटा समूह की कंपनी टाटा यूनिस्टोर द्वारा संचालित की जाती है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज को दिए गए आकडों के अनुसार 2016-17 कंपनी ने 12 करोड़ रुपए की बिक्री की थी। इस दौरान कंपन को 162 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों को आशंका है कि टाटा इस क्षेत्र में नई प्राइस वॉर को शुरू कर सकता है।

Write a comment