1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद में शेयर बाजार नई ऊंचाई पर, सेंसेक्स पहली बार 40,000 के पार हुआ बंद

नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद में शेयर बाजार नई ऊंचाई पर, सेंसेक्स पहली बार 40,000 के पार और निफ्टी 12,000 के पार हुआ बंद

कारोबारी सप्ताह के पहले दिन ही शेयर बाजार में तेजी बनी हुई है। बीएसई सेंसेक्स सोमवार को कारोबार के दौरान 510 अंक उछलकर 40,224.59 तथा एनएसई निफ्टी 12,069 अंक के रिकार्ड उच्च स्तर पर।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: June 03, 2019 17:11 IST
stock market sensex gain record level on monday 3 june 2019- India TV Paisa

stock market sensex gain record level on monday 3 june 2019

नई दिल्ली। केंद्रीय बैंक द्वारा नीतिगत दरों में कटौती की उम्मीद को लेकर सोमवार को देश के प्रमुख शेयर बाजार अब तक के सबसे उच्च स्तरों पर पहुंच गए। बीएसई का सेंसेक्स 553 अंक एवं एनएसई का निफ्टी 166 अंक की उछाल के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक दिन के कारोबार में एक समय में 40,308.90 अंक पर पहुंच गया था। हालांकि, बाजार बंद होने के समय 553.42 अंक के भारी उछाल के साथ 40,267.62 अंक पर रहा। 

वहीं एनएसई का निफ्टी भी दिन के कारोबार में एक समय अब तक के अपने सर्वोच्च स्तर 12,103.05 अंक पर पहुंच गया था। लेकिन बाद में 165.75 अंक यानी 1.39 प्रतिशत चढ़कर 12,088.55 अंकों पर बंद हुआ। हीरो मोटोकॉर्प, बजाज ऑटो, एशियन पेंट्स, इंड्सइंड बैंक, एचयूएल और मारूति के शेयरों में सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की गई। 

आईसीआईसीआई बैंक, एनटीपीसी और आईटीसी के शेयरों में मामूली गिरावट देखने को मिली। कारोबारियों के मुताबिक केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद के चलते निवेशकों ने भारी लिवाली की। मार्च तिमाही में आर्थिक वृद्धि की रफ्तार सुस्त पड़ने के कारण निवेशकों को दरों में कटौती की गुंजाइश बढ़ती दिख रही है। कृषि एवं विनिर्माण क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहने के कारण देश की अर्थव्यवस्था की वृद्धि की रफ्तार सुस्त पड़ गई है। 

विशेषज्ञों का मानना है कि बृहस्पतिवार को लगातार तीसरी बार आरबीआई नीतिगत दरों में कटौती कर सकता है। इस बात की उम्मीद है कि आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति बृहस्पतिवार को अपनी द्विमासिक नीतियों की घोषणा कर सकती है। केंद्रीय बैंक ने पिछले दो बार में रेपो दर में 0.25-0.25 प्रतिशत की कटौती की है। कारोबारियों ने कहा कि रुपये के मजबूत होने का सकारात्मक असर निवेशकों की धारणा पर देखने को मिला। 

जीडीपी ग्रोथ में कमी की वजह से आरबीआई रेपो रेट घटा सकता है

आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी गुरुवार को ब्याज दरों का ऐलान करेगी। विशेषज्ञों का कहना है कि जीडीपी ग्रोथ रेट में गिरावट को देखते हुए रिजर्व बैंक फिर से प्रमुख दरों में कटौती कर सकता है। आरबीआई ने पिछली दो बैठकों में रेपो रेट 0.25-0.25 फीसदी घटाया था।

Write a comment
yoga-day-2019