1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Q3 Result: स्पाइसजेट का मुनाफा 77 प्रतिशत लुढ़का, पावर फाइनेंस का लाभ 70% बढ़ा

Q3 Result: स्पाइसजेट का मुनाफा 77 प्रतिशत लुढ़का, पावर फाइनेंस का लाभ 70% बढ़ा

स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने कहा कि विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों में वृद्धि और रुपए की विनिमय दर में गिरावट के बावजूद स्पाइसजेट ने राजस्व के मोर्चे पर बेहतरीन प्रदर्शन किया और अन्य लागतों को नियंत्रित किया।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: February 11, 2019 19:48 IST
spicejet- India TV Paisa
Photo:SPICEJET

spicejet

मुंबई। किफायती विमानन सेवा कंपनी स्पाइसजेट का 31 दिसंबर को समाप्त तीसरी तिमाही में शुद्ध लाभ 77 प्रतिशत गिरकर 55 करोड़ रुपए रह गया। विमान ईंधन की ऊंची कीमतों और रुपए की विनिमय दर में गिरावट से कंपनी के मुनाफे पर असर पड़ा। पिछले वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में उसका मुनाफा 240 करोड़ रुपए था। 

कंपनी ने बयान में कहा कि समीक्षाधीन अवधि में उसकी कुल आय 2,530.8 करोड़ रुपए रही। 2017-18 की तीसरी तिमाही में उसकी आय 2,096.1 करोड़ रुपए थी। कंपनी का कहना है कि इस दौरान यात्रियों से आय में आठ प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिसने कच्चे तेल की कीमतों में 34 प्रतिशत की वृद्धि और रुपए की विनिमय दर में 11 प्रतिशत गिरावट के प्रभाव को आंशिक रूप से कम करने में मदद की। 

स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने कहा कि विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों में वृद्धि और रुपए की विनिमय दर में गिरावट के बावजूद स्पाइसजेट ने राजस्व के मोर्चे पर बेहतरीन प्रदर्शन किया और अन्य लागतों को नियंत्रित किया। लागत में मजबूत सुधार और ईंधन दक्ष मैक्स विमानों की संख्या बढ़ाने से पिछले साल की तुलना में परिदृश्य मजबूत हुआ है।

पावर फाइनेंस का शुद्ध लाभ 70 प्रतिशत उछला 

सार्वजनिक क्षेत्र की पावर फाइनेंस कारपोरेशन (पीएफसी) का एकल आधार पर शुद्ध लाभ दिसंबर 2018 को समाप्त तिमाही में 70 प्रतिशत उछलकर 2,075.84 करोड़ रुपए रहा। मुख्य रूप से अधिक आय के कारण कंपनी का लाभ बढ़ा है। 

कंपनी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी का एकल आधार पर शुद्ध लाभ 1,216.94 करोड़ रुपए था। पीएफसी की कुल आय आलोच्य तिमाही में बढ़कर 7,363.89 करोड़ रुपए रही, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 6,247.62 करोड़ रुपए थी। 

कॉरपोरेशन बैंक को तीसरी तिमाही में 60.53 करोड़ रुपए का मुनाफा 

कॉरपोरेशन बैंक ने चालू वित्त वर्ष की दिसंबर, 2018 में 60.53 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया है। बैंक ने सोमवार को कहा कि डूबे कर्ज के लिए प्रावधान घटने की वजह से उसने तिमाही के दौरान मुनाफा कमाया। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में बैंक को 1,240.49 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। 

बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय घटकर 4,112.32 करोड़ रुपए रह गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 4,841.37 करोड़ रुपए थी। बैंक ने कहा कि तिमाही के दौरान उसका डूबे कर्ज (एनपीए) के लिए प्रावधान घटकर 842.28 करोड़ रुपए रह गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 2,494.71 करोड़ रुपए था।

समीक्षाधीन अवधि में बैंक की सकल गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बढ़कर कुल कर्ज का 17.36 प्रतिशत हो गईं, जो एक साल पहले समान तिमाही में 15.92 प्रतिशत थीं। मूल्य के हिसाब से बैंक का सकल एनपीए 21,921.42 करोड़ रुपए रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 21,817.96 करोड़ रुपए था। इसी तरह बैंक का शुद्ध एनपीए बढ़कर 11.47 प्रतिशत यानी 13,521.22 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो एक साल पहले समान तिमाही में 10.73 प्रतिशत या 13,853.90 करोड़ रुपए था। 

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स का शुद्ध मुनाफा गिरा

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड का शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में 17.02 प्रतिशत गिरकर 455.19 करोड़ रुपए पर आ गया। कंपनी ने बताया कि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में उसे 548.59 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ था। 

कंपनी ने कहा कि आलोच्य तिमाही के दौरान कुल आय पिछले वित्त वर्ष के 4,462.92 करोड़ रुपए से कुछ बढ़कर 4,482.83 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। इस दौरान कंपनी का खर्च भी 3,618.14 करोड़ रुपए से बढ़कर 3,799.33 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। 

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban