1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सेंसेक्स में 100 प्वाइंट से ज्यादा की गिरावट, लेकिन ऑटो कंपनियों के शेयरों ने पकड़ी रफ्तार

सेंसेक्स में 100 प्वाइंट से ज्यादा की गिरावट, लेकिन ऑटो कंपनियों के शेयरों ने पकड़ी रफ्तार

जुलाई के पहले कारोबारी दिन आज सोमवार को शेयर बाजार ने कमजोरी के साथ शुरुआत की है, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी लाल निशान के साथ कारोबार कर रहे हैं, फिलहाल सेंसेक्स 131.53 प्वाइंट घटकर 35291.95 और निफ्टी 41.10 प्वाइंट की गिरावट के साथ 10673.20 पर कारोबार कर रहा है।

Reported by: Manoj Kumar [Updated:02 Jul 2018, 9:36 AM IST]
Sensex and Nifty start July with negative opening- India TV Paisa

Sensex and Nifty start July with negative opening

नई दिल्ली। जुलाई के पहले कारोबारी दिन आज सोमवार को शेयर बाजार ने कमजोरी के साथ शुरुआत की है, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी लाल निशान के साथ कारोबार कर रहे हैं, फिलहाल सेंसेक्स 131.53 प्वाइंट घटकर 35291.95 और निफ्टी 41.10 प्वाइंट की गिरावट के साथ 10673.20 पर कारोबार कर रहा है।

हालांकि इस गिरावट के बावजूद आज ऑटो कंपनियों के शेयरों में जोरदार खरीदारी देखी जा रही है। निफ्टी पर सबसे ज्यादा बढ़ने वाली कंपनियों में बजाज ऑटो और टाटा मोटर्स के शेयर हैं, इनके अलावा मारुति और महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयरों में भी खरीदारी देखी जा रही है। जून तिमाही के दौरान ऑटो कंपनियों कि बिक्री में जोरदार बढ़ोतरी हुई है जिस वजह से आज ऑटो शेयरों में खरीदारी देखी जा रही है। ऑटो शेयरों के अलावा आज आईटी, मीडिया और पीएसयू बैंक शेयरों में भी मजबूती देखने को मिल रही है।

सरकार की तरफ से पेट्रोलियम उत्पादों को फिलहाल GST के दायरे में नहीं लाने के संकेत के बाद आज ऑयल मार्केटिंग कंपनियों के शेयरों में भी खरीदारी देखी जा रही है। निफ्टी पर बढ़ने वाली कंपनियों में भारत पेट्रोलिय और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के शेयर भी आगे हैं।

हालांकि सेंसेक्स और निफ्टी पर ज्यादातर कंपनियों के शेयरों में कमजोरी है, निफ्टी पर घटने वाली कंपनियों में सबसे आगे एनटीपीसी, आयसर मोटर्स, कोल इंडिया, वेदांत, ओएनजीसी, आईटीसी, लार्सन एंड टूब्रो और पावरग्रिड के शेयर हैं।

Web Title: सेंसेक्स में 100 प्वाइंट से ज्यादा की गिरावट, लेकिन ऑटो कंपनियों के शेयरों ने पकड़ी रफ्तार
Write a comment