1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. टैक्स चुराने और मनी लांड्रिंग की आरोपी 14 इकाइयों पर से सेबी ने प्रतिबंध हटाया

टैक्स चुराने और मनी लांड्रिंग की आरोपी 14 इकाइयों पर से सेबी ने प्रतिबंध हटाया

सेबी ने आदेश KFCL के मामले में दिया है। इकाइयों को प्रथम दृष्टया अनुचित लाभ के लिए कंपनी के शेयर मूल्य को कृत्रिम तरीके से बढ़ाने का जिम्मेदार माना गया था

Manoj Kumar Manoj Kumar
Published on: September 24, 2017 16:32 IST
टैक्स चुराने और मनी लांड्रिंग की आरोपी 14 इकाइयों पर से सेबी ने प्रतिबंध हटाया- India TV Paisa
टैक्स चुराने और मनी लांड्रिंग की आरोपी 14 इकाइयों पर से सेबी ने प्रतिबंध हटाया

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने 14 इकाइयों से प्रतिभूति बाजार में कारोबार करने की रोक हटा दी है। इन इकाइयों पर कथित रूप से कर चोरी तथा मनी लांड्रिंग गतिविधियों के लिए शेयर बाजार प्लेटफार्म का दुरुपयोग करने के लिए प्रतिबंध लगाया गया था। नियामक ने कहा कि इन इकाइयों के खिलाफ किसी तरह का प्रतिकूल प्रमाण नहीं मिला है जिसके बाद प्रतिबंध हटाने का फैसला किया गया है।

यह भी पढें: Sebi ने दिए 10 फर्मों के बैंक खाते कुर्क करने के आदेश, 1.23 करोड़ रुपए के बकाए की करनी है वसूली

सेबी ने यह आदेश कमललक्षी फाइनेंस कारपोरेशन (KFCL) के मामले में दिया है। इन इकाइयों को प्रथम दृष्टया अनुचित लाभ के लिए कंपनी के शेयरों मूल्यों को कृत्रिम तरीके से बढ़ाने का जिम्मेदार माना गया था। इस महीने नियामक ने अभी तक धोखाधड़ी वाले तरीके से दीर्घावधि का लाभ कमाने (LTCG) के विभिन्न मामलों में कुल 750 इकाइयों से प्रतिबंध हटाया है।

यह भी पढें: सूचीबद्ध कंपनियों में चेयरमैन और एमडी के पद हो सकते हैं अलग, सरकारी उपक्रमों से हो सकती है शुरुआत

KFCL (अब ग्रोमो ट्रेड एंड कंसल्टेंसी लि.) के मामले में सेबी ने फरवरी, 2015 में 33 इकाइयों पर प्रतिभूति बाजार में कारोबार की रोक लगाई थी। बाद में अगस्त, 2016 में दो इकाइयों से प्रतिबंध हटा दिया गया। सेबी ने जनवरी से दिसंबर, 2014 के दौरान केएफसीएल के शेयरों के मूल्यों की समीक्षा की थी। सेबी के 22 सितंबर के ताजा आदेश में कहा गया है कि इन 14 इकाइयों के खिलाफ किसी तरह का प्रतिकूल प्रमाण नहीं मिला। इसलिए इनसे प्रतिबंध हटाया जा रहा है। शेष 17 इकाइयों पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

Write a comment