1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. SC ने दिए दिल्‍ली में डीजल कारों पर बैन हटाने के संकेत, ग्राहकों को देना पड़ सकता है अतिरिक्‍त ग्रीन सेस

SC ने दिए दिल्‍ली में डीजल कारों पर बैन हटाने के संकेत, ग्राहकों को देना पड़ सकता है अतिरिक्‍त ग्रीन सेस

दिल्‍ली एनसीआर में महंगी डीजल कारों की बिक्री एक बार फिर शुरू होने की उम्‍मीद एक बार फिर बढ़ गई है।

Sachin Chaturvedi [Updated:30 Jun 2016, 8:55 AM IST]
SC ने दिए दिल्‍ली में डीजल कारों पर बैन हटाने के संकेत, ग्राहकों को देना पड़ सकता है अतिरिक्‍त ग्रीन सेस- IndiaTV Paisa
SC ने दिए दिल्‍ली में डीजल कारों पर बैन हटाने के संकेत, ग्राहकों को देना पड़ सकता है अतिरिक्‍त ग्रीन सेस

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली एनसीआर में महंगी डीजल कारों की बिक्री एक बार फिर शुरू होने की उम्‍मीद एक बार फिर बढ़ गई है। दो बड़ी वाहन निर्माताओं कंपनियों- मर्सेडीज और टोयोटा की याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर, जस्टिस एके सीकरी और आर भानुमति ने कहा कि वह ग्रीन सेस के भुगतान पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 2000 सीसी से ज्यादा वाली क्षमता वाली कारों और एसयूवी की बिक्री पर लगा बैन हटाने पर विचार कर सकता है। सुनवाई के दौरान दोनों कंपनियों के वकीलों ने कोर्ट के सामने कहा है कि बैन हटा लिया जाए तो वह इन कारों की एक्स-शोरूम कीमत का एक फीसदी सेस के रूप में जमा करने के लिए तैयार हैं।

डीजल कारों के लिए देने होंगे ज्‍यादा पैसे

कोर्ट ने कहा कि बड़ी डीजल कारें खरीदने वालों को समझना चाहिए कि उनके वाहन ज्यादा प्रदूषण फैलाते हैं। अदालत ने कहा कि चूंकि ये कारें पेट्रोल अवतार के मुकाबले ज्यादा प्रदूषण करती हैं इसलिए वह कार निर्माताओं पर कुछ ग्रीन सेस लगाकर उन्हें इन बड़ी डीजल कारों की बिक्री शुरू करने की इजाजत देने का विचार कर रहा है। जस्टिस ठाकुर ने कहा, ‘जो व्यक्ति इस कार को खरीद रहा है उसे मालूम होना चाहिए कि वह प्रदूषण फैलाने वाला वाहन खरीद रहा है इसलिए उसे ज्यादा पैसे देने पड़ रहे हैं।’

सुप्रीम कोर्ट के चाबुक की मार से बाल-बाल बच निकलीं ये पावरफुल कारें

car just under 2000 cc

1 (8)chevrolet cruze

5 (6)audi a6

4 (8)bmw x3

3 (8)skoda superb

2 (10)volkswagen jetta

कोर्ट ने कंपनियों से मांगा रोड मैप

सुनवाई के दौरान टोयोटा के वकील गोपाल जैन ने कहा कि कंपनी अपनी ओर से एक्स-शोरूम कीमत का एक फीसदी सेस के रूप में देने के लिए तैयार है। बेंच ने कार निर्माताओं को बड़ी डीजल कारों पर ग्रीन सेस लगाने का रोडमैप मांगा। इसके साथ ही उसने सरकार से कारों को बिक्री की इजाजत देने से पहले उनके प्रदूषण की जांच के तंत्र के बारे में सवाल पूछा।

पेट्रोल कार की तरफ बढ़ा खरीदारों का रूझान, डीजल कारों पर अदालतों के कड़े रुख का असर

Delhi-NCR में डीजल गाड़ियों पर प्रतिबंध से करीब 5,000 रोजगार प्रभावित

Web Title: SC ने दिए दिल्‍ली में डीजल कारों पर बैन हटाने के संकेत
Write a comment