1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सेल, बीएसएनएल और एयर इंडिया सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम

सेल, बीएसएनएल और एयर इंडिया सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम

2015-16 में सेल (SAIL), बीएसएनएल (BSNL) तथा एयर इंडिया (Air India) का प्रदर्शन सबसे खराब रहा और उन्‍हें सबसे अधिक नुकसान उठाना पड़ा।

Abhishek Shrivastava [Updated:25 Mar 2017, 12:35 PM IST]
सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम हैं SAIL, BSNL, Air India, सरकार को कोल इंडिया, ONGC, IOC ने दिया लाभ- IndiaTV Paisa
सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम हैं SAIL, BSNL, Air India, सरकार को कोल इंडिया, ONGC, IOC ने दिया लाभ

नई दिल्ली। कोल इंडिया, तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ONGC) तथा इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) 2015-16 में सबसे बेहतर वित्तीय प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम रहे। वही सेल (SAIL), बीएसएनएल (BSNL) तथा एयर इंडिया (Air India) का प्रदर्शन सबसे खराब रहा और उन्‍हें सबसे अधिक नुकसान उठाना पड़ा। सरकार के एक सर्वेक्षण में यह तथ्य सामने आया है।

केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) का 2015-16 के प्रदर्शन का आकलन करने वाले सार्वजनिक उपक्रम सर्वे के अनुसार वित्त वर्ष के दौरान सेल, बीएसएनएल तथा एयर इंडिया सबसे अधिक घाटा उठाने वाले शीर्ष तीन सार्वजनिक उपक्रमों में शामिल हैं। 2015-16 में 10 सबसे अधिक घाटा उठाने वाले सीपीएसई में अकेले 51.65 प्रतिशत नुकसान इन तीन कंपनियों को हुआ।

शीर्ष दस घाटे वाले सीपीएसई में सेल के अलावा ओएनजीसी विदेश, राष्ट्रीय इस्पात निगम, पीईसी और भेल शामिल हैं। वहीं मंगलुरु रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स, एसटीसीएल फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स (त्रावणकोर), एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज और हिंदुस्तान फर्टिलाइजर्स कॉरपोरेशन वित्त वर्ष के दौरान लाभ में आ गईं।

संसद में पेश सर्वे के अनुसार शीर्ष दस मुनाफा कमाने वाले सार्वजनिक उपक्रमों में कोल इंडिया, ओएनजीसी और आईओसी ने कुल मुनाफे में क्रमश: 17.82 प्रतिशत, 17.45 प्रतिशत तथा 11.34 प्रतिशत का योगदान दिया। हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन और महानदी कोलफील्ड्स दस शीर्ष मुनाफा कमाने वाले सीपीएसई में शामिल हो गईं। वहीं एनएमडीसी और साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स इससे बाहर निकल गईं।

Web Title: SAIL, BSNL, Air India सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले उपक्रम
Write a comment