1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Rcom के 25,000 करोड़ रुपए के एसेट्स की बिक्री अगस्त के अंत तक, एरिक्‍सन को सितंबर तक चुकाएगी 550 करोड़

Rcom के 25,000 करोड़ रुपए के एसेट्स की बिक्री अगस्त के अंत तक, एरिक्‍सन को सितंबर तक चुकाएगी 550 करोड़

कर्ज के बोझ तले दबी दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस (Rcom) को उम्मीद है कि वह 25,000 करोड़ रुपए तक की परिसंपत्तियों की बिक्री इस माह के अंत तक संपन्न कर लेगी।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: August 06, 2018 19:57 IST
Anil Ambani & Mukesh Ambani- India TV Paisa

Anil Ambani & Mukesh Ambani

नई दिल्ली कर्ज के बोझ तले दबी दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस (Rcom) को उम्मीद है कि वह 25,000 करोड़ रुपए तक की परिसंपत्तियों की बिक्री इस माह के अंत तक संपन्न कर लेगी। इसके अलावा सितंबर अंत तक वह एरिक्सन को 550 करोड़ रुपए चुकाने पर भी सहमत हो गई है ताकि दोनों के बीच के विवाद का निपटान किया जा सके। शेयर बाजार को दी जानकारी में कंपनी ने कहा कि वह 30 सितंबर 2018 से पहले एरिक्सन को 550 करोड़ रुपए चुकाने के लिए सहमत है।

उच्चतम न्यायालय ने भी तीन अगस्त को दोनों कंपनियों के बीच विवाद निपटाने की इस प्रक्रिया को मंजूर कर लिया था।

उल्लेखनीय है कि दोनों कंपनियों के बीच 2014 में एक सात साल का समझौता हुआ था। इसमें एरिक्सन को देशभर में आरकॉम के दूरसंचार नेटवर्क के परिचालन और प्रबंधन की जिम्मेदारी दी गई थी। एरिक्सन का आरोप था कि आरकॉम ने उसके 1,500 करोड़ रुपए का बकाया नहीं चुकाया है और वह इस मामले को लेकर राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय अधिकरण में ले गई थी।

इस संबंध में अधिकरण के 30 मई के फैसले पर गौर करने के बाद उच्चतम न्यायालय ने इस पर अपना फैसला दिया। इसके अनुसार एरिक्सन अपने 1500 करोड़ रुपए के बकाया को 550 करोड़ रुपए में निपटाने के लिए तैयार हो गई। आरकॉम को यह रकम 120 दिन के अंदर चुकाने के लिए कहा गया है।

शीर्ष अदालत ने 3 अगस्त को आरकॉम को अपने स्पेक्ट्रम, ऑप्टिकल फाइबर, टावर और रियल एस्टेट इत्यादि परिसंपत्तियां बेचने की भी अनुमति दे दी जिनका मूल्य लगभग 25,000 करोड़ रुपए है। आरकॉम ने कहा कि उसे अपनी परिसंपत्तियां अगस्त 2018 के अंत तक बेचे जाने की उम्मीद है।

इसके अलावा आरकॉम ने अपनी दूरसंचार परिसंपत्तियों को बेचने के लिए रिलायंस जियो और परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी ब्रुकफील्ड से भी समझौता किया है।

Write a comment