1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. RBI ने कहा GDP पर नोटबंदी का असर खत्म, महंगाई बढ़ने की आशंका

RBI ने कहा GDP पर नोटबंदी का असर खत्म, महंगाई बढ़ने की आशंका

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नोटबंदी के बाद महंगाई बढ़ने की आशंका जताते हुए डिजिटल भुगतान को सुरक्षित बनाए जाने की आवश्यकता पर बल दिया है।

Ankit Tyagi Ankit Tyagi
Published on: March 11, 2017 15:07 IST
RBI ने कहा GDP पर नोटबंदी का असर खत्म, महंगाई बढ़ने की आशंका- India TV Paisa
RBI ने कहा GDP पर नोटबंदी का असर खत्म, महंगाई बढ़ने की आशंका

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नोटबंदी के बाद महंगाई बढ़ने की आशंका जताते हुए डिजिटल भुगतान को सुरक्षित बनाए जाने की आवश्यकता पर बल दिया है। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने कहा है कि अर्थव्यवस्था पर नोटबंदी का जो अस्थायी प्रतिकूल असर था वह काफी हद तक कमजोर पड़ चुका है।

यह भी पढ़े: 5 राज्यों में से 2 राज्यों में BJP प्रचंड बहुमत की ओर, शेयर बाजार छुएगा नई ऊंचाई

नोटबंदी के दौरान कितना पैसा हुआ डिपॉजिट, अभी तक नहीं पता

  •  रिजर्व बैंक के एक पत्र में नोटबंदी के व्यापक आर्थिक प्रभाव पर एक प्रारंभिक आकलन रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि 1,000 और 500 रपए के नोटों को बंद किये जाने के साथ ही 15.6 लाख करोड़ रपए मूल्य के नोट चलन से बाहर हो गए।
  • अभी उस करेंसी का सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सका है जो पुराने नोटों के रूप में बैंकिंग प्रणाली में लौटी है क्योंकि इसकी गणना और मिलान प्रक्रिया अभी जारी है।

यह भी पढ़े: UP विधानसभा चुनाव में BJP की जीत के बाद होंगे ये 5 बड़े रिफॉर्म, आम आदमी पर होगा ये असर

नोटबंदी का असर खत्म

  • रिजर्व बैंक ने कहा कि नोटबंदी का असर फरवरी के मध्य से कम होना शुरू हो गया। बैंकिंग प्रणाली में नई करेंसी आने के साथ नोटबंदी का असर अब कम होना शुरू हो गया है।
  • पत्र में कहा गया है कि नोटबंदी का अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों पर असर पड़ा है। हालांकि, इसके साथ ही केंद्रीय बैंक ने कहा कि इसका प्रतिकूल असर कुछ समय के लिए ही था, जो नवंबर-दिसंबर में महसूस किया गया।

यह भी पढ़े: विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद बेनामी संपत्ति समेत इन कड़े फैसलों की तैयारी में सरकार, होंगे ये असर

डिजिटल भुगतान में हुआ सुधार

  • केंद्रीय बैंक ने अपने आकलन में कहा कि नोटबंदी के बाद डिजिटल भुगतान में उल्लेखनीय सुधार हुआ है, लेकिन अब भी इसका आधार काफी छोटा है।
  • रिजर्व बैंक ने कहा है, यह महत्वपूर्ण है कि डिजिटल भुगतान स्वीकार करने के लिये प्रयास तेज किये जाने चाहिये। यह भी उतना ही अहम है कि डिजिटल भुगतान को सुरक्षित और बेहतर बनाया जाये।

यह भी पढ़े: NBFC गोल्‍ड लोन में दे सकेंगे केवल 25,000 रुपए कैश, RBI ने नियमों में किया बदलाव

डिजिअल भुगतान के सुरक्षा की समीक्षा जरूरी

  • केन्द्रीय बैंक की आकलन रिपोर्ट में कहा गया है कि डिजिअल भुगतान के सुरक्षा उपायों की लगातार समीक्षा होनी चाहिये और इसमें सुधार होना चाहिये। देश में साक्षरता के निम्न स्तर को देखते हुये डिजिटल भुगतान को मजबूत और विश्वासपरक बनाया जाना चाहिये।
Write a comment