1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. नेपाली नागरिक बदल सकते हैं 4500 रुपए तक के पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट, RBI ने की घोषणा

नेपाली नागरिक बदल सकते हैं 4500 रुपए तक के पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट, RBI ने की घोषणा

RBI ने नेपाल के केंद्रीय बैंक से कहा कि कोई भी नेपाली नागरिक 4500 रुपए तक की राशि के बंद हो चुके 500 और 1,000 रुपए के भारतीय मुद्रा नोट बदल सकता है।

Ankit Tyagi Ankit Tyagi
Updated on: March 28, 2017 7:51 IST
नेपाली नागरिक बदल सकते हैं 4500 रुपए तक के पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट, RBI ने की घोषणा- India TV Paisa
नेपाली नागरिक बदल सकते हैं 4500 रुपए तक के पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट, RBI ने की घोषणा

काठमांडू। भारतीय रिजर्व बैंक ने नेपाल के केंद्रीय बैंक से कहा कि कोई भी नेपाली नागरिक 4500 रुपए तक की राशि के बंद हो चुके 500 और 1,000 रुपए के भारतीय मुद्रा नोट बदल सकता है।

यह भी पढ़े: डेबिट-क्रेडिट कार्ड से लेकर ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन तक के लिए देना होता है चार्ज

नेपाल राष्ट्र बैंक के सूत्रों ने बताया कि

रिजर्व बैंक के अधिकारियों ने एक बातचीत के दौरान नेपाली अधिकारियों के सामने यह प्रस्ताव रखा था। नेपाली अधिकारी इस सीमा को 25,000 रुपए प्रति व्यक्ति तक करने का आग्रह कर रहे थे।

तस्‍वीरों के जरिए समझिए क्‍या है GST

GST

gst-1IndiaTV Paisa

gst-2IndiaTV Paisa

gst-3IndiaTV Paisa

gst-4IndiaTV Paisa

gst-5IndiaTV Paisa

बैठक में हुआ फैसला

नेपाल राष्ट्र बैंक और भारतीय अधिकारियों के बीच सोमवार को इस संबंध में एक बैठक हुई जिसमें 4,500 रुपए तक की सीमा की छूट दी गई है। यह नोट बदली आधिकारिक बैंकिंग माध्यम से की जा सकती है।

यह भी पढ़ें :50 लाख रुपए तक सालाना आय वालों के लिए होगा सिर्फ 1 पेज का इनकम टैक्‍स रिटर्न फॉर्म, 1 अप्रैल से लागू होगी व्‍यवस्‍था

क्या है प्रोसेस
  • भारतीय दल के प्रपोजल के मुताबिक भारत के बंद नोट रखने वाले लोगों को पहले बैंक या फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस में अकाउंट खोलना होगा। फिर भारतीय करंसी को जमा करना होगा।
  • एनआरबी द्वारा इसका ब्योरा वेरिफिकेशन के लिए आरबीआई को भेजना होगा। सूत्रों ने कहा कि वेरिफिकेशन के बाद आरबीआई उतनी ही करंसी के नोट नेपाल भेजेगा।
  • हालांकि,  एनआरबी के अधिकारी आरबीआई द्वारा सुझाई गई प्रक्रिया पर राजी हैं, लेकिन उनकी मांग है कि प्रति व्यक्ति 25 हजार रुपए एक्सचेंज की फैसिलिटी दी जानी चाहिए।

यह भी पढ़े: मारूति ने एक साल में बेची 1.1 लाख विटारा ब्रेजा, ग्राहकों को करना पड़ रहा है 20 हफ्तों का इंतजार

 नेपाल की आपत्ति

मीटिंग में मौजूद रहे एनआरबी के फॉरेन एक्सचेंज डिपार्टमेंट के हेड भीष्म राज धुनगना ने कहा,

हमने 25 हजार रुपए के डिमोनेटाइज नोटों के एक्सचेंज फैसिलिटी देने की मांग की। हमने उन्हें कहा कि भारत सरकार ने नेपालियों को 25 हजार रुपए तक रखने की अनुमति देने का फैसला किया था और अब उन्हें इस लिमिट तक एक्सचेंज की सुविधा देनी चाहिए। नेपालियों के पास बंद हो चुके भारतीय नोटों का स्टॉक काफी ज्यादा होने का अनुमान है, क्योंकि नेपालियों को 500 और 1000 रुपए के डिनोमिनेशंस वाले 25 हजार रुपए तक रखने की अनुमति दी गई थी।

 नेपाल के बैंकिंग सिस्टम में है इतनी भारतीय करंसी
नेपाल का सेंट्रल बैंक दावा कर रहा है कि उसके बैंकों और फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस के पार 2.36 करोड़ रुपए के भारतीय नोट जमा हैं। 8 नवंबर को भारत सरकार द्वारा नोटबंदी की घोषणा के साथ नेपाल के प्रधानमंत्री प्रचंड ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से टेलीफोन पर बात करके नेपाल में सर्कुलेट भारतीय करंसी के लिए एक्सचेंज फैसिलिटी देने की मांग की थी।
Write a comment