1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. रतन टाटा ने पहले दिन ही किए दो बड़े फैसले, टाटा संस में दो नए डायरेक्टर को किया नियुक्त

रतन टाटा ने पहले दिन ही किए दो बड़े फैसले, टाटा संस में दो नए डायरेक्टर को किया नियुक्त

टाटा ग्रुप के चेयरमैन बनने के बाद रतन टाटा ने मंगलवार को टाटा संस के बोर्ड में दो नए डायरेक्टर्स को नियुक्त कर टाटा ग्रुप पर अपना कंट्रोल और मजबूत कर लिया है।

Ankit Tyagi [Published on:26 Oct 2016, 10:34 AM IST]
रतन टाटा ने पहले दिन ही किए दो बड़े फैसले, टाटा संस में दो नए डायरेक्टर को किया नियुक्त- IndiaTV Paisa
रतन टाटा ने पहले दिन ही किए दो बड़े फैसले, टाटा संस में दो नए डायरेक्टर को किया नियुक्त

नई दिल्ली। टाटा ग्रुप के चेयरमैन बनने के बाद रतन टाटा ने मंगलवार को टाटा संस के बोर्ड में दो नए डायरेक्टर्स को नियुक्त कर टाटा ग्रुप पर अपना कंट्रोल और मजबूत कर लिया है। उन्होने सायरस मिस्त्री की ओर से हर तरह की कानूनी चुनौती से निपटने के कदम भी उठा लिए है। आपको बता दें कि सोमवार को चेयरमैन पद से हटाए गए मिस्त्री ने अपने अगले कदम के बारे में कोई संकेत नहीं दिया। टाटा ग्रुप की होल्डिंग कंपनी टाटा संस में टीसीएस के सीईओ एन चंद्रशेखरन और जगुआर लैंड रोवर के सीईओ राल्फ स्पेथ को डायरेक्टर बनाया गया।

रतन टाटा का बड़ा बयान, कहा भारत में गैर-बराबरी वाले वातावरण की समस्या

रतन टाटा की सभी कंपनियों के MD के साथ बड़ी मीटिंग

  • रतन टाटा ने मंगलवार सुबह ग्रुप कंपनियों के मैनेजिंग डायरेक्टरों और चीफ एग्जिक्युटिव ऑफिसर्स के साथ मीटिंग की ताकि इस ग्रुप के पावर स्ट्रक्चर को वह अपने मुताबिक दिशा दे सकें।
  • टाटा ने विभिन्न कंपनियों के प्रमुखों से वृद्धि और मुनाफे पर जोर देने के साथ शेयरहोल्डर वैल्यू बढ़ाने पर ध्यान देने को कहा।
  • टाटा ने कहा कि ग्रुप की कंपनियों के मौजूदा कार्यकलाप का मूल्यांकन किया जा रहा है जो जरूरी समझे जाएंगे, उन्हें जारी रखा जाएगा।
  • समूचे सिस्टम की ओवरहॉलिंग की जा सकती है।
  • मिस्त्री ने करीब 4 साल के अपने कार्यकाल में ग्रुप में कई बदलाव किए थे और इस 150 साल पुराने ग्रुप का कर्ज घटाने के साथ उन्होंने इसका फोकस कन्ज्यूमर पर बढ़ाया था।

सभी कदमों की हो रही है समीक्षा

  • ग्रुप की 29 लिस्टेड कंपनियों के प्रमुखों से रतन टाटा ने कहा, ‘हम विभिन्न कंपनियों में उठाए गए कदमों की समीक्षा करेंगे और जिन्हें जरूरी समझेंगे, उन्हें जारी रखा जाएगा।
  • अगर कोई बदलाव होगा, तो उस पर आपसे चर्चा की जाएगी।
  •  टाटा ग्रुप का अगला कदम ग्रुप एग्जिक्युटिव काउंसिल जैसी एक मैनेजमेंट टीम बनाने का हो सकता है।

मिस्त्री के इस फैसले को किया रतन टाटा रद्द

  • जीईसी को मिस्त्री ने बनाया था और सोमवार दोपहर बाद उसे भंग कर दिया गया था।
  • जीइसी में सीएचआरओ हेड एन एस राजन, स्ट्रैटिजिस्ट निर्मल्या कुमार, बिजनस डिवेलपमेंट ऑफिसर मधु कन्नन, हरीश भट्ट और ब्रैंड कस्टोडियन मुकुंद राजन थे।
  • इसमें मिस्त्री भी शामिल थे। राजन और भट को दूसरी भूमिकाएं दी जाएंगी, वहीं राजन, कन्नन और कुमार के बारे में स्थिति साफ नहीं है।

एन चंद्रशेखरन की अध्यक्षता में बन सकती है नई टीम

  • टाटा सीनियर सीईओ की एक मेंटरिंग टीम भी बना सकते हैं जिनमें टीसीएस के हेड एन चंद्रशेखरन शामिल हो सकते हैं।
  • यह कदम छोटी ग्रुप कंपनियों के सीईओ को नई व्यवस्था में दिशा देने के लिए उठाया जा सकता है।
  • एक सर्च फर्म के एमडी ने कहा, ‘टाटा की उम्र 78 साल है। ऐसे में मैनेजमेंट टीम और मेंटरिंग टीम का गठन हो सकता है।
  • उन्हें बेहतर गाइड्स के तहत छोटी कंपनियों को रखने की जरूरत होगी। ऐसे में टीसीएस के एन चंद्रशेखरन और टाइटन के एमडी भास्कर भट्ट उपयोगी हो सकते हैं।

पीएम मोदी से मिलना चाहते हैं साइरस मिस्त्री

  • टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से अचानक हटाए गए सायरस मिस्त्री नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने का वक्त मांग सकते हैं।
  • ताकि खुद को हटाए जाने के खिलाफ वह अपना पक्ष पीएम के सामने रख सकें।
  • देश की राजनीतिक राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई में मंगलवार शाम ऐसी अटकलों का बाजार गरम था।
  • मिस्त्री राजनीतिक व्यवस्था के साथ संबंध बनाने को उत्सुक दिख रहे थे।
  • शायद इसलिए ताकि वह अपना प्रोफाइल रतन टाटा के उत्तराधिकारी के रूप में तैयार कर टाटा ग्रुप में अपने पद को सुरक्षित कर सकें।
Web Title: रतन टाटा ने पहले दिन ही किए दो बड़े फैसले
Write a comment