1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. राष्ट्रपति ने एक जुलाई से दो फीसदी महंगाई भत्ते को दी मंजूरी, एक करोड़ से अधिक लोगों को होगा फायदा

राष्ट्रपति ने एक जुलाई से दो फीसदी महंगाई भत्ते को दी मंजूरी, एक करोड़ से अधिक लोगों को होगा फायदा

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सरकारी कर्मचारियों को एक जुलाई से दो फीसदी डीए के भुगतान को मंजूरी दे दी। इससे एक करोड़ से अधिक लोगों को फायदा होगा।

Dharmender Chaudhary Dharmender Chaudhary
Updated on: November 05, 2016 13:20 IST
Good News: राष्ट्रपति ने एक जुलाई से दो फीसदी डीए को दी मंजूरी, एक करोड़ से अधिक लोगों को होगा फायदा- India TV Paisa
Good News: राष्ट्रपति ने एक जुलाई से दो फीसदी डीए को दी मंजूरी, एक करोड़ से अधिक लोगों को होगा फायदा

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने सरकारी कर्मचारियों को एक जुलाई से दो प्रतिशत महंगाई भत्ते (डीए) के भुगतान को मंजूरी दे दी है। सरकारी कर्मचारियों को एक जुलाई से उनके मूल वेतन पर दो प्रतिशत महंगाई भत्ता दिए जाने को इससे पहले केन्द्रीय मंत्रिमंडल अपनी मंजूरी दे चुका है। इस कदम से उसके 50.68 लाख कर्मचारियों और 54.24 लाख पेंशनरों को फायदा होगा। हालांकि, इससे सरकारी खजाने पर 5,622.10 करोड़ रुपए का सालाना बोझ पड़ेगा।

सरकार ने समिति का किया गठन

  • भत्तों के बारे में जब तक अंतिम फैसला नहीं हो जाता है तब तक सभी भत्तों का मौजूदा दर के अनुरूप भुगतान होता रहेगा।
  • भत्तों पर सिफारिशें देने के लिए वित्त और व्यय सचिव की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है।
  • उसकी सिफारिशें आने के बाद ही भत्तों के बारे में आगे निर्णय लिया जाएगा।
  • केन्द्र ने एक जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के मुताबिक नए वेतनमानों को लागू किया है।
  • इसमें पुराने वेतन ढांचे का 125 प्रतिशत महंगाई भत्ता शामिल है।
  • इस प्रकार एक जनवरी 2016 से नए वेतन ढांचे में महंगाई भत्ता शून्य हो गया था।

तस्वीरों में जानिए कैसे पता करें अपना PF बैलेंस

PF account gallery

indiatvpaisapfac (1)IndiaTV Paisa

indiatvpaisapfac (2)IndiaTV Paisa

indiatvpaisapfac (3)IndiaTV Paisa

indiatvpaisapfac (4)IndiaTV Paisa

indiatvpaisapfac (5)IndiaTV Paisa

indiatvpaisapfac (6)IndiaTV Paisa

सशस्त्र सेना और रेलवे कर्मचारियों के लिए अलग से जारी होंगे आदेश

मंत्रालय ने कहा है कि उसका यह आदेश उन सिविल कर्मचारियों पर भी लागू होगा जिन्हें रक्षा सेवाओं के व्यय अनुमान से भुगतान किया जाता है। इसमें कहा गया है, सशस्त्र सेना कर्मियों और रेलवे कर्मचारियों के मामले में इस संबंध में रक्षा और रेलवे मंत्रालय द्वारा अलग से आदेश जारी किया जाएगा।

Write a comment