1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. PMO के पास नहीं है पूर्व प्रधानमंत्रियों के आयकर रिफंड का कोई रिकॉर्ड, पीएम मोदी ने पांच बार लिया रिफंड

PMO के पास नहीं है पूर्व प्रधानमंत्रियों के आयकर रिफंड का कोई रिकॉर्ड, पीएम मोदी ने पांच बार लिया रिफंड

पीएमओ ने कहा कि जो सूचना मांगी गई है वह व्यक्तिगत प्रकृति की है और आरटीआई कानून की धारा 8 (1) (आई) के तहत इसकी छूट है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: May 27, 2019 14:09 IST
PMO has no records of income tax refunds of former prime ministers- India TV Paisa
Photo:PMO HAS NO RECORDS OF INC

PMO has no records of income tax refunds of former prime ministers

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के पास पूर्व प्रधानमंत्रियों के आयकर रिफंड का कोई रिकॉर्ड नहीं है। सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मांगी गई जानकारी में यह तथ्य सामने आया है। पीएमओ ने आरटीआई आवेदन के जवाब में कहा कि पूर्व प्रधानमंत्रियों से संबंधित रिकॉर्ड कार्यालय के पास उपलब्ध नहीं है।  

आरटीआई के तहत पूर्व प्रधानमंत्रियों और उनकी मंत्रिपरिषद के सदस्यों को मिले आयकर रिफंड की जानकारी मांगी गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आयकर रिफंड के सवाल पर पीएमओ ने ब्योरा देने से इनकार करते हुए कहा कि सूचना के अधिकार कानून के तहत इसकी सूचना देने की जरूरत नहीं है। 

पीएमओ ने कहा कि जो सूचना मांगी गई है वह व्यक्तिगत प्रकृति की है और आरटीआई कानून की धारा 8 (1) (आई) के तहत इसकी छूट है। यह धारा ऐसी व्यक्तिगत सूचना के खुलासे से रोकती है, जिसका सार्वजनिक हित या गतिविधि से कोई संबंध नहीं है। यह व्यक्ति की गोपनीयता को बेवजह का दखल होगा। हालांकि, केंद्रीय सार्वजनिक सूचना अधिकारी या राज्य सार्वजनिक सूचना अधिकारी या अपीलीय प्राधिकरण को यदि किसी मामले में लगता है कि वृहद जनहित में इस तरह का खुलासा किया जाना चाहिए तो ऐसा किया जा सकता है। 

हालांकि यह धारा आगे यह भी कहती है कि यदि कोई सूचना संसद या राज्यों के विधानसभा को दी जा सकती है तो इसे किसी व्यक्ति को देने से इनकार नहीं किया जा सकता। 

एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. द्वारा प्रबंधित आयकर विभाग के कर सूचना नेटवर्क द्वारा रिफंड के बारे में उपलब्ध कराई गई सूचना के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पिछले 18 साल में कम से कम पांच बार रिफंड मिला है। 

आकलन वर्ष 2001-02 से इस प्लेटफॉर्म पर किसी व्यक्ति के स्थायी खाता संख्या (पैन) के जरिये ऑनालइन रिफंड की स्थिति की जानकारी ली जा सकती है। मोदी के मामले में आकलन वर्ष 2015-16 और 2012-13 के लिए रिफंड को बकाया मांग से समायोजित किया गया है। इस पोर्टल पर रिफंड की राशि का जिक्र नहीं है लेकिन तारीख या समायोजन का उल्लेख है। 

रिफंड स्‍टेट्स रिकॉर्ड के मुताबिक मोदी को आकलन वर्ष 2018-19 के लिए 26 सितंबर 2018 को उनके खाते में डायरेक्‍ट क्रेडिट के जरिये रिफंड राशि जमा की गई। आकलन वर्ष 2016-17 में 16 अगस्‍त 2016 को डायरेक्‍ट क्रेडिट के जरिये रिफंड दिया गया। चुनाव आयोग के समक्ष दायर किए गए हलफनामे के मुताबिक नरेंद्र मोदी के साथ्‍ज्ञ 2.5 करोड़ रुपए की संपत्ति है, जिसमें गुजरात के गांधीनगर में एक रिहायशी प्‍लॉट शामिल है। मोदी के पास 1.27 करोड़ रुपए की फ‍िक्‍स्‍ड डिपॉजिट और 38,750 रुपए नकद है।

Write a comment
bigg-boss-13