1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ 75 पैसे दूर पेट्रोल, गुरुवार को लगातार चौथे दिन बढ़े दाम

रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ 75 पैसे दूर पेट्रोल, गुरुवार को लगातार चौथे दिन बढ़े दाम

देश में डीजल की कीमतें पहले ही रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गई हैं और गुरुवार को लगातार चौथे दिन दाम बढ़ने के बाद अब पेट्रोल भी रिकॉर्ड तोड़ने के करीब पहुंच गया है। तेल कंपनियों ने गुरुवार को एक बार फिर से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने की घोषणा कर दी है। तेल कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में 22-23 पैसे और डीजल के दाम में 22-24 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी का ऐलान किया है

Reported by: Manoj Kumar [Updated:17 May 2018, 8:51 AM IST]
Petrol is just 75 paisa away from new record prices- India TV Paisa

Petrol is just 75 paisa away from new record prices

नई दिल्ली। देश में डीजल की कीमतें पहले ही रिकॉर्ड स्तर तक पहुंच गई हैं और गुरुवार को लगातार चौथे दिन दाम बढ़ने के बाद अब पेट्रोल भी रिकॉर्ड तोड़ने के करीब पहुंच गया है। तेल कंपनियों ने गुरुवार को एक बार फिर से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने की घोषणा कर दी है। तेल कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में 22-23 पैसे और डीजल के दाम में 22-24 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी का ऐलान किया है।

इस बढ़ोतरी के बाद राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम अब बढ़कर 75.32 रुपए प्रति लीटर हो गया है, दिल्ली में करीब 56 महीने पहले पेट्रोल की कीमतों ने रिकॉर्ड स्तर 76.06 रुपए को छुआ था, यानि मौजूदा दाम रिकॉर्ड तोड़ने से 75 पैसे दूर है। कोलकाता की बात करें तो वहां अब दाम 78.01 रुपए, मुंबई में 83.16 रुपए और चेन्नई में 78.16 रुपए हो गया है।

डीजल की बात करें तो गुरुवार को दिल्ली में उसका दाम 66.79 रुपए, कोलकाता में 69.33 रुपए, मुंबई में 71.12 रुपए और चेन्नई में 70.49 रुपए प्रति लीटर हो गया है। देश के 3 शहर ऐसे हैं जहां डीजल 72 रुपए प्रति लीटर के ऊपर बिक रहा है, तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में इसका दाम 72.60 रुपए, केरल के त्रिवेंद्रम में 72.51 रुपए और छत्तीसगढ़ के रायपुर में 72.12 रुपए प्रति लीटर है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हो रही लगातार बढ़ोतरी की वजह से तेल कंपनियों को पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। ब्रेंट क्रूड का दाम 80 डॉलर के करीब पहुंच गया है जबकि WTI क्रूड का दाम भी 72 डॉलर प्रति बैरल के करीब जा चुका है। इस वजह से भारतीय बास्केट के लिए कच्चे तेल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ऊपर से घरेलू स्तर पर रुपए पर दबाव देखा जा रहा है जिस वजह से तेल कंपनियों की विदेशों से तेल खरीदने के लिए लागत और भी बढ़ गई है और वह इस लागत को ग्राहकों से निकालने के लिए पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ा रही हैं।

Web Title: रिकॉर्ड तोड़ने से सिर्फ 75 पैसे दूर पेट्रोल, गुरुवार को लगातार चौथे दिन बढ़े दाम
Write a comment