1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत में पेट्रोल पाकिस्तान से 57% महंगा, जानिए पड़ोसी देशों में पेट्रोल और डीजल का भाव

भारत में पेट्रोल पाकिस्तान से 57% महंगा, जानिए पड़ोसी देशों में पेट्रोल और डीजल का भाव

PPAC के आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल के दिन पाकिस्तान के मुकाबले भारत में पेट्रोल का भाव करीब 57 प्रतिशत अधिक, श्रीलंका के मुकाबले 51 प्रतिशत ज्यादा और नेपाल के मुकाबले 14 प्रतिशत अधिक दर्ज किया गया

Manoj Kumar Manoj Kumar
Updated on: April 02, 2018 17:40 IST
Petrol and Diesel prices in Pakistan and other neighboring countries - India TV Paisa

Petrol and Diesel prices in Pakistan and other neighboring countries 

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ी हुई कीमतों का हवाला देकर भारत में पेट्रोल और डीजल बहुत महंगे भाव पर बेचा जा रहा है। लेकिन भारत के पड़ोसी देशों में ऐसा नहीं है, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का ज्यादा भाव होने के बावजूद भारत के पड़ौसी देश भारत से बहुत कम रेट पर पेट्रोल और डीजल की बिक्री करते हैं। खुद भारत सरकार के आंकड़े यह कह रहे हैं।

पेट्रोलियम मंत्रालय के दायरे में आने वाली संस्था पेट्रोलियम योजना एवं विश्लेषण प्रकोष्ठ के आंकड़ों के मुताबिक पहली अप्रैल के दिन पाकिस्तान के मुकाबले भारत में पेट्रोल का भाव करीब 57 प्रतिशत अधिक, श्रीलंका के मुकाबले 51 प्रतिशत ज्यादा, नेपाल के मुकाबले 14 प्रतिशत अधिक और बांग्लादेश के मुकाबले 8 प्रतिशत ज्यादा दर्ज किया गया।

पहली अप्रैल के दिन दिल्ली में पेट्रोल का भाव 73.73 रुपए, पाकिस्तान में सिर्फ 47.04 रुपए, श्रीलंका में महज 48.94 रुपए, नेपाल में 64.78 रुपए और बांग्लादेश में 68.08 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया। यह सभी भाव संबधित देश की करेंसी में नहीं बल्कि भारतीय करेंसी रुपए में हैं।

सिर्फ पेट्रोल ही नहीं बल्कि भारत में डीजल भी सभी पड़ौसी देशों के मुकाबले बहुत महंगा है, आंकड़ों के मुताबिक पहली अप्रैल के दिन दिल्ली मे डीजल का भाव 64.58 रुपए था जबकि श्रीलंका में सिर्फ 39.74 रुपए, बांग्लादेश में 51.45 रुपए, नेपाल में 52.20 रुपए और पाकिस्तान में 54.33 रुपए प्रति लीटर था।

Petrol and Diesel prices in Pakistan and other neighboring countries

भारत की अर्थव्यवस्था इन सभी पड़ौसी देशों के मुकाबले ज्यादा मजबूत है, ऐसे में बड़ा सवाल उठता है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के बढ़े हुए भाव जब भारत के पड़ौसी देश कम रेट पर पेट्रोल और डीजल बेच सकते हैं तो फिर भारत में ऐसा क्यों नहीं हो रहा?

Write a comment