1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 2 हफ्ते बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने की आशंका, क्रूड ऑयल 42 महीने की ऊंचाई पर पहुंचा

2 हफ्ते बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने की आशंका, क्रूड ऑयल 42 महीने की ऊंचाई पर पहुंचा

कर्नाटक चुनाव की वजह से देश में 2 हफ्ते से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने की वजह से ऑयल मार्केटिंग कंपनियों पर दाम बढ़ाने का दबाव बढ़ रहा है

Reported by: Manoj Kumar [Published on:07 May 2018, 9:19 AM IST]
Petrol and diesel price - India TV Paisa

Petrol and diesel price can rise again as crude oil rose to 42 month high

नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव की वजह से देश में 2 हफ्ते से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने की वजह से ऑयल मार्केटिंग कंपनियों पर दाम बढ़ाने का दबाव बढ़ रहा है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 42 महीने के ऊपरी स्तर तक पहुंच गया है। सोमवार को अंतरराष्ट्रीय मार्केट में WTI क्रूड की कीमतों ने 70.35 डॉलर प्रति बैरल की ऊंचाई को छुआ है जो नवंबर 2014 के बाद सबसे अधिक भाव है। ब्रेंट क्रूड का दाम भी 75 डॉलर प्रति बैरल के करीब बना हुआ है।

इस वजह से बढ़ा कच्चा तेल

ईरान और अमेरिका के बीच फिर से बढ़ती खींचतान की वजह से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अमेरिका फिर से ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लगा सकता है, अगर ऐसा हुआ तो ईरान को कच्चा तेल निर्यात करने में दिक्कतें होंगी जिससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की सप्लाई पर असर पड़ेगा और दाम बढ़ सकते हैं।  

भारतीय बास्केट के लिए भी क्रूड महंगा

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी की वजह से भारतीय बास्केट के लिए भी क्रूड ऑयल के दाम बढ़े हैं। अप्रैल के लिए भारतीय बास्केट के लिए क्रूड ऑयल का औसत मासिक दाम 69.30 डॉलर प्रति बैरल दर्ज किया गया है जो नवंबर 2014 के बाद सबसे अधिक औसत मासिक दाम है।

रुपए की कमजोरी ने और बिगाड़ा खेल

कच्चे तेल के दाम बढ़ने के साथ रुपए की कमजोरी भी भारतीय तेल कंपनियों की परेशानी बढ़ा रही है। डॉलर का भाव धीरे-धीरे 67 रुपए की ओर बढ़ रहा है, आज हालांकि डॉलर के मुकाबले रुपए में हल्की रिकवरी जरूर है लेकिन फिर भी दाम 66.82 रुपए है। तेल कंपनियों को क्योंकि विदेशों से खरीदे कच्चे तेल के लिए डॉलर में भुगतान करना पड़ता है ऐसे में डॉलर खरीदने के लिए उनको ज्यादा रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं।

​फिलहाल ये हैं पेट्रोल और डीजल के दाम

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम बढ़ने और रुपए की कमजोरी की वजह से तेल कंपनियों पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। हालांकि अभी तक 2 हफ्ते से दाम में किसी तरह की बढ़ोतरी नहीं हुई है। सोमवार को भी दिल्ली में पेट्रोल का दाम 74.63 रुपए, कोलकाता में 77.32 रुपए, मुंबई में 82.48 रुपए और चेन्नई में 77.43 रुपए प्रति लीटर दर्ज किया गया है। डीजल की बात करें तो सोमवार को दिल्ली में इसका दाम 65.93 रुपए, कोलकाता में 68.63 रुपए, मुंबई में 70.20 रुपए और चेन्नई में 69.56 रुपए प्रति लीटर रहा है।

Web Title: 2 हफ्ते बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने की आशंका, क्रूड ऑयल 42 महीने की ऊंचाई पर पहुंचा
Write a comment