1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारतीय होटल इंडस्‍ट्री में धाक जमाने के बाद OYO की है चीन पर नजर, सॉफ्टबैंक व अन्‍य से जुटाए 7,280 करोड़ रुपए

भारतीय होटल इंडस्‍ट्री में धाक जमाने के बाद OYO की है चीन पर नजर, सॉफ्टबैंक व अन्‍य से जुटाए 7,280 करोड़ रुपए

भारत की होटल इंडस्‍ट्री में बड़ी सफलता हासिल करने के बाद घरेलू स्‍टार्टअप ओयो ने अपने अगले लक्ष्‍य चीन पर नजरें गड़ा ली हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: September 25, 2018 15:11 IST
oyo rooms- India TV Paisa
Photo:OYO ROOMS

oyo rooms

नई दिल्‍ली। भारत की होटल इंडस्‍ट्री में बड़ी सफलता हासिल करने के बाद घरेलू स्‍टार्टअप ओयो ने अपने अगले लक्ष्‍य चीन पर नजरें गड़ा ली हैं। पांच साल पुराने ऑनलाइन होटल रूम एग्रीगेटर ओयो ने जापान के प्रतिष्ठित निवेशक सॉफ्टबैंक और अन्‍य से वित्‍त पोषण के नए चरण में 7,280 करोड़ रुपए ( एक अरब डॉलर) जुटाने की घोषणा की है। इस ताजे निवेश का उपयोग चीन और अन्‍य देशों में विस्‍तार करने पर किया जाएगा।  

आतिथ्य क्षेत्र की कंपनी ओयो ने विस्तार के लिए एक अरब डॉलर (करीब 7,280 करोड़ रुपए) का कोष जुटाया है। कंपनी ने साफ्टबैंक इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स (एसबीआईए) की अगुवाई में सॉफ्टबैंक विजन फंड के जरिये यह राशि जुटाई है। इस वित्तपोषण दौर में मौजूदा निवेशकों लाइटस्पीड वेंचर्स पार्टनर्स, सिकोया और ग्रीनओक्स कैपिटल ने भी हिस्सा लिया। 

ओयो ने कहा कि उसने 80 करोड़ डॉलर पहले ही जुटा लिए हैं। उसके पास 20 करोड़ डॉलर की और प्रतिबद्धता है। ओयो के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितेश अग्रवाल ने कहा कि पिछले 12 माह में हमने पांच देशों भारत, चीन, मलेशिया और नेपाल तथा हाल में ब्रिटेन में अपनी पहुंच बढ़ाई है। अग्रवाल ने कहा कि इस अतिरिक्त वित्तपोषण के जरिये हम इन देशों में अपना कारोबार तेजी से बढ़ाएंगे जबकि प्रौद्योगिकी और प्रतिभा में निवेश करते रहेंगे। 

पिछले हफ्ते ओयो ने कहा था कि उसकी 2020 तक 2,000 टेक्‍नोलॉजी विशेषज्ञ और इंजीनियरों को भर्ती करने की है। अग्रवाल ने कहा था कि हम आर्टिफ‍िशियल इंटेलीजेंस, मशीन लर्निंग और आईओटी जैसी टेक्‍नोलॉजी में निवेश जारी रखेंगे, जो प्रत्‍येक कीमत पर मेहमानों के अनुभवों को बढ़ाएगी और भागीदारों के लिए सतत आय को सुनिश्चित करेगी तथा हजारों भारतीयों के लिए रोजगार उपलब्‍ध कराएगी।

Write a comment