1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. तेल प्रोडक्‍शन घटाने के लिए राजी हुए OPEC देश, प्रतिदिन 750,000 बैरल कम होगा उत्‍पादन

तेल प्रोडक्‍शन घटाने के लिए राजी हुए OPEC देश, प्रतिदिन 750,000 बैरल कम होगा उत्‍पादन

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन ओपेक प्रति दिन 750,000 बैरल तेल प्रोडक्‍शन कम करने पर राजी हो गया है।

Abhishek Shrivastava [Updated:29 Sep 2016, 11:26 AM IST]
तेल प्रोडक्‍शन घटाने के लिए राजी हुए OPEC देश, प्रतिदिन 750,000 बैरल कम होगा उत्‍पादन- India TV Paisa
तेल प्रोडक्‍शन घटाने के लिए राजी हुए OPEC देश, प्रतिदिन 750,000 बैरल कम होगा उत्‍पादन

अल्‍जीयर्स। पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (OPEC: ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पेट्रोलियम एक्‍सपोर्टिंग कंट्रीज) ओपेक प्रति दिन 750,000 बैरल तेल प्रोडक्‍शन कम करने पर राजी हो गया है। इस खबर के तुरंत बाद क्रूड ऑयल की कीमतों में 5 फीसदी की तेजी आ गई है।

बाजार को उम्‍मीद थी कि अल्‍जीरिया की राजधानी अल्‍जीयर्स में होने वाली ओपेक की यह बैठक भी पिछली बार की तरह बिना किसी नतीजे के खत्‍म हो जाएगी। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। लगातार नीचे गिरती तेल कीमतों की वजह से कई तेल उत्‍पादक देशों की अर्थव्‍यवस्‍था संकट में फंस गई है।

  • लंदन बेंचमार्क पर ब्रेंट नॉर्थ सी क्रूड का नवंबर डिलीवरी भाव 2.72 डॉलर बढ़कर 48.69 डॉलर प्रति बैरल हो गया, जबकि न्‍यूयॉर्क में वेस्‍ट टेक्‍सास इंटरमीडिएट (डब्‍ल्‍यूटीआई) पर क्रूड का भाव 2.38 डॉलर बढ़कर 47.05 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया।
  • ओपेक सदस्‍यों, जो कि दुनिया में पैदा होने वाले कुल क्रूड ऑयल का 40 फीसदी हिस्‍सा उत्‍पादित करते हैं, ने अपना उत्‍पादन घटाकर 3.25 करोड़ बैरल प्रति दिन करने की सहमति जताई है। यह खबर ब्‍लूमबर्ग ने सदस्‍य देशों के एक सूत्र के हवाले से दी है।
  • सूत्र ने बताया कि ओपेक की बैठक आज सुबह अल्जियर्स में शुरू हुई और इस बैठक में सदस्‍य देशों के बीच तेल उत्‍पादन में कटौती करने पर सहमति बनी।
  • इस कटौती का उद्देश्‍य तेल कीमतों को बढ़ावा देना है, जो 2014 के मध्‍य के बाद से अब तक घटकर तकरीबन आधी रह गई है।
  • ओपेक के सदस्‍यों में अल्‍जीरिया, अंगोला, इक्‍वाडोर, ईरान, ईराक, कुवैत, लीबिया, नाइजीरिया, कतर, साऊदी अरब, यूनाइटेड अरब अमीरात और वेनेजुएला शामिल हैं।
Web Title: तेल प्रोडक्‍शन घटाने के लिए राजी हुए OPEC देश
Write a comment