1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अभी और आंसू निकालेगा प्याज: 1 हफ्ते में 10 रुपए प्रति किलो तक बढ़े दाम, सरकार ने बनाया प्लान

अभी और आंसू निकालेगा प्याज: 1 हफ्ते में 10 रुपए प्रति किलो तक बढ़े दाम, सरकार ने बनाया प्लान

प्याज के प्रमुख उत्पादक प्रदेशों में हुई भारी बारिश के कारण फसल खराब होने की आशंका से प्याज के दाम में तेजी देखी जा रही है। दिल्ली की आजादपुर मंडी में पिछले 10 दिनों में प्याज के दाम में 10 रुपये प्रति किलो का इजाफा हो गया है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Published on: August 25, 2019 12:07 IST
onion price hike- India TV Paisa

onion price hike

नई दिल्ली। प्याज के प्रमुख उत्पादक प्रदेशों में हुई भारी बारिश के कारण फसल खराब होने की आशंका से प्याज के दाम में तेजी देखी जा रही है। दिल्ली की आजादपुर मंडी में पिछले 10 दिनों में प्याज के दाम में 10 रुपए प्रति किलो का इजाफा हो गया है। आजादपुर मंडी के कारोबारी और ऑनियन मर्चेट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि हालिया भारी बारिश से प्याज की नई फसल खराब होने की आशंका है और बारिश के कारण पिछले दिनों प्याज की आवक भी कम होने लगी थी जिसके कारण दाम में इजाफा हुआ है। 

उन्होंने बताया कि बहरहाल राजस्थान और मध्यप्रदेश से प्याज की आवक ज्यादा हो रही है जहां पिछले दिनों बारिश होने से आवक प्रभावित रही मगर अब आवक सुधर गई है, लेकिन आने वाले दिनों में प्याज के दाम में और बढ़ोतरी हो सकती है क्योंकि महाराष्ट्र और दक्षिण भारतीय राज्यों में फसल खराब होने की आशंका है। आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 10 रुपये से 25 रुपये प्रति किलो है, मगर देश की राजधानी और एनसीआर के विभिन्न इलाकों में खुदरा सब्जी विक्रेता 30 रुपये से 50 रुपये प्रति किलो प्याज बेचते हैं। 

थोक और खुदरा भाव में इतना बड़ा अंतर के बारे में पूछे जाने पर एक सब्जी विक्रेता ने कहा कि मंडी से सब्जी लाने का खर्च और फिर उसमें खराब प्याज निकलने से होने वाले नुकसान को भी देखना पड़ता है। शर्मा ने बताया कि आजादपुर मंडी में पिछले दो दिनों से 100 ट्रक प्याज की आवक हो रही है जोकि तकरीबन 2200 टन के आसपास होता है। हालांकि आजादपुर मंडी एग्री प्रोड्यूस मार्केटिंग कमेटी (एपीएमसी) के आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार को मंडी में 1,619.8 टन प्याज की आवक थी, जिसमें राजस्थान से 672.2 टन, मध्यप्रदेश से 649.3 टन और महाराष्ट्र से 298.3 टन की आवक रही। 

एपीएमसी के अनुसार, शुक्रवार को मंडी में प्याज का थोक भाव 10-22.50 रुपये प्रति किलो था। एपीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले दिनों मंडी में प्याज की आवक कम रहने के कारण दाम में इजाफा हुआ है लेकिन अब फिर आवक सुधर रही है और कीमतों में गिरावट आ सकती है। 

सरकार बफर स्टॉक से बढ़ायेगी प्याज की आपूर्ति, जमाखोरों पर होगी कार्रवाई

सरकार ने प्याद की बढ़ती कीमतों को लेकर कहा कि वह अपने बफर स्टॉक से खुले बाजार में प्याज, दालों और खाद्य तेल की बिक्री करेगी। साथ ही कृत्रिम संकट पैदा करने वाले जमाखोरों पर तत्काल कार्रवाई करेगी। दिल्ली में प्याज का खुदरा दाम 30 से 40 रुपये प्रति किलोग्राम है। महाराष्ट्र की लासलगांव मंडी में बीते गुरुवार को प्याज का थोक भाव 14.76 रुपये प्रति किलोग्राम था। खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने ट्वीट किया कि पिछले कुछ दिन से सरकार की दालों और खाद्य तेल की कीमतों में वृद्धि पर नजर है। इसकी वजह जमाखोरों द्वारा पैदा की गई कृत्रिम कमी है। सरकार उनके खिलाफ तत्काल कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार के पास दलहन और तिलहन का पर्याप्त भंडार है। उन्होंने कहा कि सरकार राशन की दुकानों के जरिये भी दालों की आपूर्ति कर रही है। 

Write a comment