1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सरकारी बैंकों की संख्‍या 21 से घटा कर 12 करेगी सरकार, SBI जैसे होंगे 3 से 4 विश्‍व स्‍तरीय बैंक

सरकारी बैंकों की संख्‍या 21 से घटा कर 12 करेगी सरकार, SBI जैसे होंगे 3 से 4 विश्‍व स्‍तरीय बैंक

सरकार वैश्विक आकार के 3-4 बैंक तैयार करने और सरकारी स्वामित्व वाले बैंकों की संख्‍या 21 से घटाकर करीब 12 करने की दिशा में काम कर रही है।

Manish Mishra Manish Mishra
Updated on: July 17, 2017 15:42 IST
सरकारी बैंकों की संख्‍या 21 से घटा कर 12 करेगी सरकार, SBI जैसे होंगे 3 से 4 विश्‍व स्‍तरीय बैंक- India TV Paisa
सरकारी बैंकों की संख्‍या 21 से घटा कर 12 करेगी सरकार, SBI जैसे होंगे 3 से 4 विश्‍व स्‍तरीय बैंक

नई दिल्ली। सरकार वैश्विक आकार के 3-4 बैंक तैयार करने के लक्ष्य के साथ बैंकों के विलय के एजेंडे पर काम कर रही है। वह सरकारी स्वामित्व वाले बैंकों की संख्‍या 21 से घटाकर करीब 12 करने की दिशा में काम कर रही है। एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि बैंकों का विलय कर अगले कुछ सालों में उनकी संख्या 10 से 12 तक लाई जाएगी। उन्होंने बताया कि तीन स्तरीय ढांचे के तहत देश के सबसे बड़े बैंक SBI के आकार के कम से कम 3-4 बैंक होंगे। उनके मुताबिक पंजाब एंड सिंध बैंक और आंध्रा बैंक जैसे कुछ क्षेत्र विशेष के बैंक अपनी स्वतंत्र पहचान के साथ बने रहेंगे इसके अलावा मझौले आकार के कुछ बैंक भी अस्तित्व में रहेंगे।

यह भी पढ़ें : 2GB रैम और VoLTE जैसे फीचर्स के साथ लॉन्‍च हुआ Xolo Era 1X Pro, कीमत सिर्फ 5,888 रुपए

पिछले महीने वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के विलय की दिशा में सक्रियता से काम कर रही है लेकिन उन्होंने ब्योरा देने से इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि यह मूल्य से जुड़ी संवेदनशील सूचना है। SBI के सफल विलय से उत्साहित वित्त मंत्रालय इस वित्त वर्ष के आखिर तक सार्वजनिक क्षेत्र के बैकिंग में ऐसे अन्य प्रस्ताव को मंजूरी देने पर गौर कर रहा है। उम्मीद जताई जा रही है कि फंसे कर्ज की स्थिति तब तक नियंत्रण में आ जाएगी।

रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर सी रंगराजन ने कहा कि,

इस प्रणाली में कुछ बड़े बैंक होंगे, कुछ छोटे और लोकल बैंक होंगे। इस प्रणाली में विविधता की जरूरत होगी।

नाम जाहिर न करने की शर्त पर एक अन्य अधिकारी ने बताया कि एक संभावित विकल्प तो यह हो सकता है कि पंजाब नैशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक और बैंक ऑफ इंडिया ऐसे बैंकों की तलाश करना शुरू कर सकते हैं जो अधिग्रहण के लिए तैयार हैं। बैंकों के समायोजन में उसके कर्ज, ह्यूमन रिसोर्स, भौगोलिक स्थिति आदि कारकों को ध्यान में रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें : हुंडई अगले महीने भारत में लॉन्‍च कर सकती है नेक्‍स्‍ट जेनरेशन वेरना, जल्‍द शुरू होगी बुकिंग

गौरतलब है कि कुछ माह पहले सरकार ने SBI में उसके पांच सहयोगी बैंकों और भारतीय महिला बैंक का विलय किया था। इसके बाद से स्टेट बैंक देश का सबसे बड़ा और दुनिया के शीर्ष 50 बैंकों में जगह बनाने में कामयाब रहा है।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban