1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. PNB को 13000 करोड़ का चूना लगाने वाले नीरव मोदी के ठिकाने का लगा पता, सिंगापुर के पासपोर्ट पर लंदन में है

PNB को 13000 करोड़ का चूना लगाने वाले नीरव मोदी के ठिकाने का लगा पता, सिंगापुर के पासपोर्ट पर लंदन में है

ईडी सूत्रों के मुताबिक, नीरव मोदी फिलहाल सिंगापुर के पासपोर्ट पर लंदन में हैं जबकि उनका भाई निशाल मोदी बेल्जियम के पासपोर्ट पर एंटवर्प में हैं। नीरव की बहन पूर्वी मेहता बेल्जियम पासपोर्ट पर फिलहाल हांगकांग में हो सकती हैं।

Manish Mishra Manish Mishra
Published on: May 19, 2018 18:49 IST
Nirav Modi in London on Singaporean passport say ED sources- India TV Paisa

Nirav Modi in London on Singaporean passport say ED sources

नई दिल्ली। हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उनके परिवार को करोड़ों रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) धोखाधड़ी मामले की जांच में शामिल होने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा समन जारी किए जाने के बावजदू मोदी ने निर्देशों को नजरअंदाज करते हुए विदेश में रहना चुना और वह जांचकर्ताओं की पहुंच से दूर बने हुए हैं। ईडी सूत्रों के मुताबिक, नीरव मोदी फिलहाल सिंगापुर के पासपोर्ट पर लंदन में हैं जबकि उनका भाई निशाल मोदी बेल्जियम के पासपोर्ट पर एंटवर्प में हैं। नीरव की बहन पूर्वी मेहता बेल्जियम पासपोर्ट पर फिलहाल हांगकांग में हो सकती हैं।

सूत्र ने कहा कि पूर्वी के पति मयंक मेहता के पास ब्रिटिश पासपोर्ट है और वह हांगकांग व न्यूयॉर्क के बीच घूम रहा है। ईडी ने नीरव मोदी के पिता दीपक मोदी, बहन पूर्वी मेहता और उसके पति मयंक मेहता को समन जारी किया था। नाम न छापने की शर्त पर ईडी के एक एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें ईमेल के जरिए समन भेजे गए हैं।

दीपक, पूर्वी और मयंक से एजेंसी के मुंबई कार्यालय में ईडी जांचकर्ताओं के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया था ताकि वह मामले में अपने बयान दर्ज कराएं क्योंकि जांच एजेंसी मुंबई की अदालत में धन शोधन अधिनियम के विशेष धाराओं में आरोपपत्र दाखिल करने की प्रक्रिया में है।

ईडी अधिकारी ने कहा कि नीरव मोदी के रिश्तेदारों को इस महीने के पहले सप्ताह में समन जारी किया गया था और उन्हें 13 हजार करोड़ रुपए की धन शोधन जांच में पेश होने के लिए 15 दिन का वक्त दिया गया था। अधिकारी ने कहा कि मामले में पहले समन पर प्रतिक्रिया देने में विफल रहने पर तीनों को आगे भी समन जारी किए जाएंगे।

Write a comment