1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. मुकेश अंबानी ने पीरामल खानदान में किया बेटी ईशा का रिश्ता, आनंद होंगे दामाद

मुकेश अंबानी ने पीरामल खानदान में किया बेटी ईशा का रिश्ता, आनंद होंगे दामाद

पहले मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी की सगाई की खबरें सुर्खियों में रही और अब उनकी बेटी ईशा अंबानी की सगाई की खबरें आ रही हैं। अंग्रेजी समाचार वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक ईशा की सगाई आनंद पीरामल से हो चुकी है

Manoj Kumar Manoj Kumar
Updated on: May 06, 2018 17:45 IST
Mukesh Ambanis daughter Isha Ambani gets engaged to Anand Piramal- India TV Paisa

Mukesh Ambanis daughter Isha Ambani gets engaged to Anand Piramal

नई दिल्ली। देश के सबसे धनी व्यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन मुकेश अंबानी के परिवार के लिए 2018 खुशियों भरा साल साबित हो रहा है। पहले मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी की सगाई की खबरें सुर्खियों में रही और अब उनकी बेटी ईशा अंबानी की सगाई की खबरें आ रही हैं। अंग्रेजी समाचार वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक ईशा की सगाई आनंद पीरामल से हो चुकी है।

हाल में हुई है सगाई

खबर के मुताबिक आनंद पीरामल कारोबारी अजय पीरामल के पुत्र हैं और लंबे समय से ईशा अंबानी के मित्र हैं, उन्होंने पिछले हफ्ते महाबलेश्वर में ईशा अंबानी को प्रपोज किया था। इसके बाद दोनो पक्ष के परिवारों ने सगाई का कार्यक्रम तय किया और अपने नजदीकी मित्र और रिश्तेदारों को बुलाकर दोनो की सगाई कर दी।

हार्वर्ड के ग्रेजुएट हैं आनंद

खबर के मुताबिक आनंद पीरामल  हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के ग्रेजुएट हैं और मौजूदा समय में पीरामल एंटरप्राइसेस में कार्यकारी निदेशक के तौर पर काम कर रहे हैं। हार्वर्ड स्कूल से पास होने के बाद उन्होंने दो स्टार्टअप शुरू किए हैं, उनका पहला स्टार्टअप हेल्थकेयर सेक्टर में पीरामल ई-स्वास्थ के नाम से है और दूसरा रियल एस्टेट सेक्टर में पीरामल रियलिटी के नाम से है।

मुकेश अंबानी ने आनंद की दी थी आंत्रप्रेन्योर बनने की सलाह

आनंद पीरामल अपने आंत्रप्रेन्योर बनने का श्रेय मुकेश अंबानी को देते हैं, हाल ही में उन्होंने इसके लिए मुकेश अंबानी का धन्यवाद भी किया था। मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था कि जब उन्होंने मुकेश अंबानी से पूछा कि ज्यादा अच्छा करियर कंसल्टिंग में है या बैंकिंग में? तो मुकेश अंबानी ने कहा कि कंसल्टिंग क्रिकेट मैच देखने या क्रिकेट के बारे में बात करने जैसा है जबकि आंत्रप्रेन्योर बनना खुद क्रिकेट खेलने जैसा है, उन्होंने कहा कि आप क्रिकेट के ऊपर कमेंट करके उसे खेलना नहीं सीख सकते, अगर आप कुछ करना चाहते हैं तो एक आंत्रप्रेन्योर बनें और इसकी शुरुआत अभी से करें।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban