1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. मारुति सियाज बनी सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान, एक महीने में एक लाख से अधिक लोगों ने खरीदी ये कार

मारुति सियाज बनी सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान, एक महीने में एक लाख से अधिक लोगों ने खरीदी ये कार

कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने कहा कि उसकी मध्यम आकार की सिडान कार सियाज ने जून माह में घरेलू बाजार में एक लाख कारों की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया है।

Dharmender Chaudhary Dharmender Chaudhary
Updated on: July 06, 2016 19:21 IST
Way of Life: मारुति सियाज बनी सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान, एक लाख से अधिक लोगों ने खरीदी ये कार- India TV Paisa
Way of Life: मारुति सियाज बनी सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान, एक लाख से अधिक लोगों ने खरीदी ये कार

नई दिल्ली। कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने कहा कि उसकी मध्यम आकार की सिडान कार सियाज ने जून माह में घरेलू बाजार में एक लाख कारों की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया है। कार को करीब दो साल पहले भारतीय बाजार में उतारा गया था। मारुति सुजुकी ने एक वक्तव्य में कहा है, अक्टूबर 2014 में बाजार में उतारी गई उसकी सियाज कार की बिक्री जून 2016 में एक लाख के आंकड़े को पार करती हुई 1,00,272 तक पहुंच गई।

मारुति सुजुकी के कार्यकारी निदेशक (विपणन एवं बिक्री) आर.एस. कल्सी ने कहा, आज, ए3प्लस वर्ग में सियाज सबसे ज्यादा बिकने वाली सेडान कार है। इसकी वजह से हमें प्रीमियम सिडान वर्ग में 40 फीसदी बाजार हिस्सा हासिल करने में मदद मिली है। कंपनी ने कहा है कि 2016 के पहले पांच माह के दौरान सियाज की औसत मासिक बिक्री 5,000 से अधिक के स्तर पर रही।

मारुति लॉन्‍च करेगी ये 5 बेहतरीन मॉडल

Maruti cars

ignisIndiaTV Paisa

swift (1)IndiaTV Paisa

baleno (2)IndiaTV Paisa

vitara (3)IndiaTV Paisa

swift-2018IndiaTV Paisa

कल्सी ने कहा कि एसएचवीएस (हाईब्रिड) जैसी इनोवेटिव टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से यह कार अधिक आकर्षक बन गई। कंपनी ने कहा कि सियाज पेट्रोल और डीजल एसएचवीएस, विकल्पों में उपलब्ध है, जो कि इसे 28.09 किलोमीटर प्रति लीटर की ईंधन किफायत देती है। मारुति की सियाज कार दिल्ली में एक्स-शो रूम 7.53 लाख और 9.94 लाख रुपए में उपलब्ध है। सियाज को अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, मध्य अमेरिका, पश्चिम एशिया, आसियान और दक्षेस देशों को भी निर्यात किया गया है। जून 2016 तक इसका कुल निर्यात 18,000 इकाई रहा।

Write a comment