1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. L&T को बिहार में मिला 7,000 करोड़ रुपए का पावर प्रोजेक्‍ट, JMC Projects ने हासिल किए 514 करोड़ रुपए के ऑर्डर

L&T को बिहार में मिला 7,000 करोड़ रुपए का पावर प्रोजेक्‍ट, JMC Projects ने हासिल किए 514 करोड़ रुपए के ऑर्डर

लएंडटी को इस ठेके के तहत बक्सर थर्मल पावर प्रोजेक्ट का डिजाइन, इंजीनियरिंग, मैन्यूफैक्चर, प्रोक्योरमेंट, सप्लाई, कंस्ट्रक्शन, इरेक्शन, टेस्टिंग और कमीशनिंग का काम करना है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: June 24, 2019 11:51 IST
L&T bags power project - India TV Paisa
Photo:L&T BAGS POWER PROJECT

L&T bags power project

नई दिल्‍ली। इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रमुख लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) ने सोमवार को बताया कि उसकी पावर बिजनेस इकाई ने बिहार के बक्‍सर जिले में अल्‍ट्रा-सुपरक्रिटिकल पावर प्‍लांट की स्‍थापना के लिए एसजीवीएन थर्मल प्रा. लि. से एक बड़ा ऑर्डर हासिल हुआ है। हालांकि इंजीनियरिंग और कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी ने इस ठेके की वास्‍तविक कीमत का खुलासा नहीं किया है, लेकिन यह मेगा प्रोजेक्‍ट 7,000 करोड़ रुपए से अधिक मूल्‍य का है।

एलएंडटी को इस ठेके के तहत बक्‍सर थर्मल पावर प्रोजेक्‍ट का डिजाइन, इंजीनियरिंग, मैन्‍यूफैक्‍चर, प्रोक्‍योरमेंट, सप्‍लाई, कंस्‍ट्रक्‍शन, इरेक्‍शन, टेस्टिंग और कमीशनिंग का काम करना है। एसजेवीएन थर्मल प्रा. लि. एसजेवीएन लिमिटेड की पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली इकाई है, जो भारत सरकार, हिमाचल प्रदेश सरकार और मिनी रत्‍न पीएसयू के बीच एक संयुक्‍त उद्यम है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस साल मार्च में इस प्‍लांट की आधारशिला रखी थी।

जेएमसी को मिले 514 करोड़ रुपए के ऑर्डर

जेएमसी प्रोजेक्‍ट्स (इंडिया) ने सोमवार को बताया कि उसे रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रोजेक्‍ट्स के अलावा फैक्‍ट्री वर्क्‍स के लिए कुल 514 करोड़ रुपए के ऑर्डर हासिल हुए हैं। कलपतरु पावर ट्रांसमिशन की सब्सिडियरी जेएमसी प्रोजेक्‍ट्स इन ऑर्डर के तहत सिविल इंजीनियरिंग, प्रोक्‍योरमेंट और कंस्‍ट्रक्‍शन वर्क का काम करेगी।

कंपनी ने नियामकीय जानकारी में बताया कि जेएमसी को 514 करोड़ रुपए के नए ऑर्डर हासिल हुए हैं। इन ऑर्डर में दक्षिण और पश्चिम भारत के रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रोजेक्‍ट्स, जिनका मूल्‍य 295 करोड़ रुपए है और पूर्वी भारत में एक फैक्‍ट्री वर्क्‍स जिसका मूल्‍य 112 करोड़ रुपए है, शामिल है। कंपनी को पूर्वी भारत में ही 107 करोड़ रुपए मूल्‍य का एक इंस्‍टीट्यूशनल बिल्डिंग निर्माण का ठेका भी मिला है।

Write a comment