1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ESIC आंकड़े: अप्रैल में 10.88 लाख रोजगार का हुआ निर्माण, पिछले साल के मुकाबले बढ़े मौके

ESIC आंकड़े: अप्रैल में 10.88 लाख रोजगार का हुआ निर्माण, पिछले साल के मुकाबले बढ़े मौके

इस साल अप्रैल में 10.88 लाख रोजगार सृजित हुए। यह पिछले साल इसी महीने में हुये 10.77 लाख रोजगार सृजन के मुकाबले थोड़ा अधिक है।

Bhasha Bhasha
Updated on: June 26, 2019 7:01 IST
Job creation slightly up at 10.88 lakh in April: ESIC payroll data- India TV Paisa

Job creation slightly up at 10.88 lakh in April: ESIC payroll data

नयी दिल्ली। इस साल अप्रैल में 10.88 लाख रोजगार सृजित हुए। यह पिछले साल इसी महीने में हुये 10.77 लाख रोजगार सृजन के मुकाबले थोड़ा अधिक है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) के सकल वेतन भुगतान के उपलब्ध आंकड़े से यह पता चलता है। 

ये भी पढ़ें : राष्ट्रीय खुदरा व्यापार नीति का मसौदा 10 दिनों में आने की संभावना: CAIT

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने सितंबर 2017 से अप्रैल 2019 के रोजगार परिदृश्य के बारे में रिपोर्ट जारी की है। यह रिपोर्ट कर्मचारी राज्य बीमा निगम के अलावा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) तथा पेंशन कोष नियामकीय एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) द्वारा संचालित एनपीएस (नई पेंशन योजना) के आंकड़ों के आधार पर जारी की गयी है। 

ये भी पढ़ें : मोदी सरकार को RBI से मिल सकते हैं 3 लाख करोड़ रुपए, नियमित व्‍यय में होगा इसका इस्‍तेमाल

2018-19 में 1.49 करोड़ नए लोगों को रोजगार

जारी आंकड़ों के मुताबिक कुल मिलाकर 2018-19 में 1.49 करोड़ नये लोगों का पंजीकरण हुआ। इसका मतलब है कि वित्त वर्ष के दौरान इतने रोजगार सृजित हुए। सितंबर 2017 से मार्च 2018 के दौरान कुल 83.31 लाख नये अंशधारक ईएसआई योजना से जुड़े। ईएसआईसी कर्मचारियों के लिये स्वास्थ्य बीमा चलाता है। 

ये भी पढ़ें : मोदी सरकार पेश करेगी नई नेशनल ई-कॉमर्स पॉलिसी, 12 माह की समय-सीमा की तय

ईपीएफओ के मुताबिक अप्रैल में 1043 लाख नए रोजगार

इसी प्रकार, ईपीएफओ के रोजगार के आंकड़े के अनुसार शुद्ध रूप से अप्रैल 2019 में 10.43 लाख रोजगार सृजित हुए। आंकड़े के अनुसार ईपीएफओ द्वारा संचालित सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत 2018-19 में शुद्ध रूप से 61.12 लाख लोग पंजीकृत हुए। वहीं सितंबर 2017 से मार्च 2018 के दौरान 15.52 लाख नये अंशधारक जुड़े। 

Write a comment