1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कालेधन के मामले में सरकार बहुत जोरदार ढंग से काम कर रही है: सिन्हा

कालेधन के मामले में सरकार बहुत जोरदार ढंग से काम कर रही है: सिन्हा

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने आज कहा कि भारत कालेधन के मामलों में बहुत जोरदार तरीके से काम कर रहा है।

Dharmender Chaudhary [Published on:27 Jun 2016, 7:19 PM IST]
कालेधन के मामले में सरकार बहुत जोरदार तरीके से कर रही है काम: सिन्हा- IndiaTV Paisa
कालेधन के मामले में सरकार बहुत जोरदार तरीके से कर रही है काम: सिन्हा

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि भारत कालेधन के मामलों में बहुत जोरदार तरीके से काम कर रहा है जिनमें पनामा-दस्तावेज समेत तमाम क्षेत्रों से जुड़े मामले शामिल हैं। इससे काले धन के और स्त्रोत भी उजागर होंगे। सिन्हा ने कहा, जांच जैसे जैसे आगे बढ़ेगी काले धन के ऐसे और स्रोत सामने आएंगे। सिन्हा आयकर विभाग द्वारा 2011 और 2013 में सूचनाओं के दो स्रोतों- एचएसबीसी और अंतरराष्ट्रीय खोजी पत्रकार कंसोर्टियम (आईसीआईजे) से मिले डाटा के आधार परविदेशी बैंकों में जमा की गई 13,000 करोड़ रुपए का पता लगाए जाने के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, हम विदेशी काले धन के सभी मामलों में :धन को वापस लाने के लिए: बहुत जोरदार ढंग से कदम उठा रहे हैं। लोगों को अनुपालन सुविधा प्रदान करने का उद्देश्य है कि लोग काले धन का खुलासा कर पाक-साफ हों। यह सुविधा खत्म हो चुकी है, आपके पास आंकड़े हैं, हमें विभिन्न मामलों में जांच, एचएसबीसी और आईसीआईजे के जरिए.. कितना धन मिला है उसके आंकड़े हैं।

यह भी पढ़ें- काले धन में रंग लाई सरकार की कोशिशें, विदेशी बैंकों में जमा 13000 करोड़ रुपए का हुआ खुलासा

घरेलू काले धन के संबंध में सिन्हा ने कहा ऐसे खाताधारकों को इस तरह की आय का विवरण देने के लिए चार महीने की समयसीमा दी गई है जो 30 सितंबर को समाप्त होगी। ऐसे घोषित धन पर :कर: व जुर्माना लगेगा। अनुपालन सुविधा प्रदान करने का उद्देश्य है लोगों को अपना हिसाब पाक-साफ करने का मौका देना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल काला धन रखने वालों को सख्त चेतावनी देते हुए उन्हें 30 सितंबर तक अघोषित आय का खुलास करने के लिए कहा। उन्होंने साफ कहा कि ऐसे लोगों के लिए इस अवसर के बंद होने के बाद उत्पन्न होने वाली समस्या से बचने का यही आखिरी मौका है। उन्होंने कहा था कि यदि कोई 30 सितंबर तक स्वैच्छिक तौर पर अघोषित आय या पंरसंपत्तियों का विवरण प्रस्तुत करने को आता है तो उसके स्रोत पर कोई सवाल नहीं उठाया जाएगा।

ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के असर के बारे में सिन्हा ने कहा कि वहां के समायोजन और बदलाव को समझने में दो-तीन साल का वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि लोगों के पास इस नयी व्यवस्था के असर से निपटने के लिए काफी समय है और इस बात पर जोर दिया कि फिलहाल कोई बड़ा संकट नहीं है। उन्होंने कहा, लंबा समय है। ब्रेक्जिट में दो-तीन साल का समय लगेगा। तब तक लोगों के पास समायोजन का समय है। तब तक लोग समझ पाएंगे कि क्या बदलाव होंगे। अब ऐसा कोई बड़ा संकट या संकट पूर्ण स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत फिलहाल विश्व का चमकता सितारा है। देश की सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर बेहतर हो रही है। शहरी इलाकों में गरीबी और संवेदनशीलता घटाने के उद्देश्य रिण एवं कौशल प्रशिक्षण मुहैया कराने के संबंध में शुरू की गई दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन :डे-एनयूएलएम: के संबंध में उन्होंने कहा कि सरकार जरूररतमंदों को उल्लेखनीय मदद करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

यह भी पढ़ें- Mann Ki Baat: PM मोदी ने कहा- 30 सितंबर तक करें काले धन का खुलासा, नहीं तो होगी कड़ी कार्रवाई

यह भी पढ़ें- घोटालों में धन के लेनदेन के रास्‍तों का पता लगाने में सक्षम हैं हमारी जांच एजेंसियां: जयंत सिन्‍हा

Web Title: कालेधन के मामले में सरकार बहुत जोरदार ढंग से काम कर रही है: सिन्हा
Write a comment