1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. 1 सितंबर से रेल सफर हो जाएगा महंगा, ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करने पर देने पड़ेंगे इतने ज्यादा रुपए

1 सितंबर से रेल सफर हो जाएगा महंगा, ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करने पर देने पड़ेंगे इतने ज्यादा रुपए

रेल यात्रीगण कृपया ध्यान दें! 1 सितंबर 2019 से अब आपका ट्रेन का सफर महंगा हो जाएगा। भारतीय रेलवे ने इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) से खरीदे जाने वाले ई-टिकट पर सर्विस चार्ज दोबारा से लागू कर दिया गया है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Published on: August 31, 2019 15:08 IST
IRCTC to restart service charges on e-tickets online train ticket booking from Sept 1, 2019- India TV Paisa

IRCTC to restart service charges on e-tickets online train ticket booking from Sept 1, 2019

नई दिल्ली। रेल यात्रीगण कृपया ध्यान दें! 1 सितंबर 2019 से अब आपका ट्रेन का सफर महंगा हो जाएगा। भारतीय रेलवे ने इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) से खरीदे जाने वाले ई-टिकट पर सर्विस चार्ज दोबारा से लागू कर दिया गया है। सर्विस चार्ज के दोबारा लागू होने से ट्रेन यात्रियों का आईआरसीटीसी से ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक कराना महंगा हो जाएगा। यानी अब रेल यात्रियों को आईआरसीटीसी से ऑनलाइन ट्रेन टिकट रिजर्वेशन कराने पर ज्यादा रुपये खर्च करने होंगे। आईआरसीटीसी ई-टिकट बुक करने पर 20 रुपये से 40 रुपये तक का सर्विस चार्ज लगाएगा।

जानिए कितना हुआ महंगा ऑनलाइन रेल टिकट 

  1. आईआरसीटीसी की ओर से जारी बयान के अनुसार, सर्विस चार्ज लागू होने के बाद आईआरसीटीसी से एसी टिकट खरीदने पर 30 रुपए और नॉन एसी टिकट खरीदने पर 15 रुपए ज्यादा खर्च करने होंगे। इसके अलावा इस खर्च पर जीएसटी अतिरिक्त देना होगा।
  2. अब स्लीपर ई-टिकट पर 20 रुपए का सर्विस चार्ज देना होगा 
  3. एसी क्लास के ई-टिकट पर 40 रुपए का सर्विस चार्ज चुकाना होगा 
  4. स्लीपर के लिए भीमएप से पेमेंट करने पर 10 रुपए सर्विस चार्ज लगेगा 
  5. एसी के लिए भीमएप से पे करने पर 20 रुपए सर्विस चार्ज देना होगा 

बता दें कि नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद मोदी सरकार की ओर से डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए ई-टिकट पर लगने वाला सर्विस टैक्स वापस ले लिया गया था। कहा गया था कि इससे ई-टिकट को बढ़ावा मिलेगा। कुछ हद तक ई-टिकट का चलन भी बढ़ा है। रेलवे अफसरों के मुताबिक इस वक्त रोज जारी होने कुल रिजर्वेशन टिकट में ई-टिकट की हिस्सेदारी लगभग 55 से 60 फीसदी है। वर्ष 2016 में ई-टिकट रोजाना कुल जारी होने वाले टिकट का 35 से 40 फीसदी था। रेलवे के रिकॉर्ड के मुताबिक देश भर में करीब 11 से 12 लाख रिजर्वेशन टिकट रोज जारी होते हैं। 

रेलवे बोर्ड ने इसी महीने दी थी सर्विस चार्ज वसूलने की अनुमति

इस महीने की शुरुआत में रेलवे बोर्ड ने आईआरसीटीसी को ऑनलाइन टिकट की बुकिंग पर यात्रियों से सर्विस चार्ज दोबारा वसूलने की अनुमति प्रदान कर दी थी। बोर्ड की ओर से आईआरसीटीसी को 30 अगस्त को जारी किए गए पत्र में कहा गया था कि संबंधित प्राधिकरणों ने इस मामले में पूरी जांच कर ली है। पत्र में कहा गया था कि वित्त मंत्रालय भी कह चुका है कि सर्विस चार्ज को खत्म करने की व्यवस्था अस्थायी है और रेल मंत्रालय इसे फिर से शुरू कर सकता है। अधिकारियों के अनुसार, सर्विस चार्ज बंद होने के बाद आईआरसीटीसी की इंटरनेट टिकटिंग से होने वाली कमाई में 26 फीसदी की गिरावट हुई है।

Write a comment
bigg-boss-13