1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. इंडियाबुल्स रियल एस्टेट खरीदेगी 100 रुपए के भाव पर अपने शेयर वापस, 500 करोड़ रुपए होंगे खर्च

इंडियाबुल्स रियल एस्टेट खरीदेगी 100 रुपए के भाव पर अपने शेयर वापस, 500 करोड़ रुपए होंगे खर्च

जून में आईबीआरईएल के प्रवर्तकों ने अपनी 14 प्रतिशत हिस्सेदारी खुले बाजार परिचालन के जरिये 950 करोड़ रुपए में एम्बेसी ग्रुप को बेची थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: October 11, 2019 16:21 IST
 Indiabulls Real Estate announces share buyback worth Rs 500 cr- India TV Paisa
Photo: INDIABULLS REAL ESTATE

  Indiabulls Real Estate announces share buyback worth Rs 500 cr

नई दिल्‍ली। इंडियाबुल्स रियल एस्टेट लिमिटेड (आईबीआरईएल) ने शुक्रवार को 100 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से पांच करोड़ शेयरों की पुनर्खरीद करने की घोषणा की है। इस पर कंपनी के करीब 500 करोड़ रुपए खर्च होंगे। शेयरों की वापस खरीद कंपनी के शेयर के मौजूदा मूल्य से दोगुने से अधिक पर की जाएगी। बंबई शेयर बाजार में अभी कंपनी का शेयर 43.40 रुपए पर चल रहा है।

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि उसके निदेशक मंडल ने शुक्रवार को पांच करोड़ पूर्ण चुकता इक्विटी शेयर खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इस पर 500 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह 100 रुपए प्रति शेयर के मूल्य पर कुल चुकता इक्विटी पूंजी का करीब 11 प्रतिशत है।

यह पुनर्खरीद निविदा पेशकश के जरिये की जाएगी। कंपनी के निदेशक मंडल ने एक पुनर्खरीद समिति का गठन किया है, जिसके पास इस प्रक्रिया के क्रियान्वयन का अधिकार होगा। इस पुनर्खरीद कार्यक्रम में सभी पात्र मौजूदा शेयरधारक और इक्विटी शेयर के लाभार्थी स्‍वामी भाग ले सकेंगे।

मौजूदा शेयरहोल्डिंग के मुताबिक इंडियाबुल्‍य रियल एस्‍टेट में प्रवर्तकों की हिस्‍सेदारी 23.06 प्रतिशत है। वहीं बेंगलुरू के एम्‍बेसी ग्रुप की इसमें 14 प्रतिशत हिस्‍सेदारी है। एम्‍बेसी ग्रुप के सीएमडी जीतू विरवानी ने कहा कि उनकी इंडियाबुल्‍स में हिस्‍सेदारी बढ़ाने की कोई योजना नहीं है और वह इंडियाबुल्‍स के साथ बनी रहेगी।

जून में आईबीआरईएल के प्रवर्तकों ने अपनी 14 प्रतिशत हिस्‍सेदारी खुले बाजार परिचालन के जरिये 950 करोड़ रुपए में एम्‍बेसी ग्रुप को बेची थी। इस सौदे के जरिये बेंगलुरू की एम्‍बेसी ग्रुप ने मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर के बाजार में प्रवेश करने की योजना बनाई है। देश में यह दोनों सबसे बड़े प्रॉपर्टी बाजार हैं।

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban