1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. शुल्‍क हटाने के लिए चीन-अमेरिका के बीच बनी सहमति, भारत को साल की समाप्ति से पहले व्यापार समझौता होने की उम्मीद

शुल्‍क हटाने के लिए चीन-अमेरिका के बीच बनी सहमति, भारत को साल की समाप्ति से पहले व्यापार समझौता होने की उम्मीद

भारत और अमेरिका को काफी उम्मीदें हैं कि इस साल की समाप्ति से पहले दोनों देश व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर कर लेंगे।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 07, 2019 16:41 IST
India, US optimistic about inking trade deal before year-end- India TV Paisa
Photo:INDIA, US OPTIMISTIC ABOU

India, US optimistic about inking trade deal before year-end

बीजिंग/न्‍यूयॉर्क। चीन और अमेरिका में एक दूसरे की वस्तुओं पर लगाए गए शुल्कों को चरणबद्ध तरीके से हटाने की सहमति बन गई है। चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने गुरुवार को यह जानकारी दी। इस बीच, दोनों देशों के वार्ताकार व्यापार समझौते पर पहुंचने के लिए लगातार बातचीत कर रहे हैं।

चीन के वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पिछले दो सप्ताह के दौरान दोनों देशों के वार्ता में शामिल नेताओं के बीच गंभीर और रचनात्मक चर्चा हुई है, जिससे प्रमुख चिंताओं को दूर किया जा सके। अंतिम करार के लिए प्रयास प्रगति पर हैं और दोनों देशों में अतिरिक्त शुल्क को चरणबद्ध तरीके से हटाने की सहमति बन गई है। 

भारत, अमेरिका को साल की समाप्ति से पहले व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर की उम्मीद

भारत और अमेरिका को काफी उम्मीदें हैं कि इस साल की समाप्ति से पहले दोनों देश व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर कर लेंगे। एक वरिष्ठ भारतीय राजनयिक ने यह बात कही। भारतीय दूतावास में वाणिज्य मामलों के प्रभारी मनोज कुमार महापात्रा ने कहा कि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री अगले हफ्ते अमेरिका आएंगे। इस दौरान व्यापार समझौते पर बातचीत की जाएगी।

उन्होंने न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि हम अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर और उनके कार्यालय के साथ कई बार व्यापार मोर्चे पर बातचीत कर चुके हैं। गोयल यात्रा के दौरान वाशिंगटन और न्यूयॉर्क दोनों जगह जाएंगे।

महापात्रा ने कहा कि हम व्यापार समझौता वार्ता को जारी रखेंगे। हम इस बात के लिए प्रतिबद्ध हैं कि इस साल के खत्म होने से पहले, दोनों पक्षों के बीच एक समझौता होगा। यह हमारे व्यापार संबंधों को आगे बढ़ाएगा।

(स्रोत: पीटीआई)

Write a comment
bigg-boss-13