1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. H-1B वीजा के लिए फॉरेन लेबर सर्टिफ‍िकेशन पाने वाली टॉप-10 कंपनियों में शामिल है भारत से अकेली TCS

H-1B वीजा के लिए फॉरेन लेबर सर्टिफ‍िकेशन पाने वाली टॉप-10 कंपनियों में शामिल है भारत से अकेली TCS

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) भारत की इकलौती ऐसी कंपनी है, जो वित्‍त वर्ष 2018 के लिए एच-1बी वीजा हेतु विदेशी श्रम प्रमाणन पाने वाली टॉप-10 कंपनियों में शामिल है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: October 23, 2018 13:49 IST
TCS- India TV Paisa
Photo:TCS

TCS

वॉशिंगटन। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस (टीसीएस) भारत की इकलौती ऐसी कंपनी है, जो वित्‍त वर्ष 2018 के लिए एच-1बी वीजा हेतु विदेशी श्रम प्रमाणन पाने वाली टॉप-10 कंपनियों में शामिल है। अमेरिका के श्रम विभाग के आंकड़ों के अनुसार टीसीएस को 20,000 प्रमाणन के साथ इस लिस्‍ट में शामिल किया गया है। इस लिस्‍ट में Ernest and Young पहले स्‍थान पर है।  

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवरों के बीच एच-1बी वीजा की मांग सबसे अधिक रहती है। यह वीजा अमेरिका में नियोक्ताओं को बिना आव्रजन अस्थायी तौर पर विदेशी पेशेवरों को नौकरी पर रखने की अनुमति देता है। 

लंदन की अर्नेस्ट एंड यंग इस तरह का प्रमाणन पाने वाली शीर्ष बहुराष्ट्रीय कंपनी है। कंपनी को एच-1बी के तहत आने वाले कामों से जुड़े 1,51,164 पदों के लिए यह प्रमाणन मिला है। यह वित्त वर्ष 2018 के लिए दिए गए कुल विदेशी श्रम प्रमाणन का 12.4 प्रतिशत है। 

इसके बाद डेलॉइट कंसल्टिंग को 68,869, भारतीय अमेरिकी कंपनी कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी कॉर्प को 47,732, एचसीएल अमेरिका को 42,820, के फोर्स इंक को 32,996 और एपल को 26,833 प्रमाणन मिले हैं। टीसीएस को 20,755 एच-1बी प्रमाणन मिले हैं। शीर्ष दस में शामिल वह इकलौती भारतीय कंपनी है। 

Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban