1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. G20 summit: भारत-इंडोनेशिया ने 2025 तक द्विपक्षीय व्यापार 50 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा

G20 summit: भारत-इंडोनेशिया ने 2025 तक द्विपक्षीय व्यापार 50 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा

भारत और इंडोनेशिया ने अगले छह साल में द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाकर 50 अरब डॉलर तक पहुंचाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय किया है।

Bhasha Bhasha
Updated on: June 29, 2019 15:34 IST
P M Narendra Modi meets the President of Indonesia Joko Widodo, on the sidelines of the G-20 Summit,- India TV Paisa
Photo:PTI

P M Narendra Modi meets the President of Indonesia Joko Widodo, on the sidelines of the G-20 Summit, in Osaka, Japan, Saturday

ओसाका। भारत और इंडोनेशिया ने अगले छह साल में द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाकर 50 अरब डॉलर तक पहुंचाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य तय किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ जी20 शिखर सम्मेलन से इतर शनिवार को हुई मुलाकात में यह लक्ष्य तय किया गया। 

दोनों नेताओं ने अर्थव्यवस्था, रक्षा तथा समुद्री सुरक्षा समेत कई मुख्य क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की। उन्होंने द्विपक्षीय व्यापार बढ़ाने के तरीकों तथा व्यापार एवं निवेश के क्षेत्र में विस्तृत तालमेल पर भी चर्चा की। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार के अनुसार, भारत और इंडोनेशिया ने 2025 तक द्विपक्षीय व्यापार 50 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। इंडोनेशिया की केंद्रीय सांख्यिकी एजेंसी के अनुसार, दोनों देशों के बीच व्यापार 2016 में 12.90 अरब डॉलर रहा। वर्ष 2017 में यह 28.70 प्रतिशत बढ़कर 18.13 अरब डॉलर पर पहुंच गया। 

दोनों नेताओं की हुई बैठक में व्यापार एवं निवेश, रक्षा तथा समुद्री सुरक्षा के मुद्दों पर द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की गयी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, 'जी20 शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन की शुरुआत एक अहम दोस्त से मुलाकात के साथ हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति (इंडोनेशिया के) जोकोवि के साथ भारत-इंडोनेशिया सहयोग बढ़ाने के तौर तरीकों पर चर्चा की।' 

कुमार ने एक ट्वीट में कहा कि विस्तृत रणनीतिक भागीदारी को आगे ले जाते हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी20 शिखर सम्मेलन से इतर इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोकोवि के साथ सफल बैठक की। व्यापार एवं निवेश, रक्षा, समुद्री सुरक्षा, अंतरिक्ष क्षेत्र में भागीदारी विस्तृत करने पर चर्चा हुई और भारत-प्रशांत क्षेत्र को लेकर दृष्टिकोण पर विचारों का आदान-प्रदान हुआ।

Write a comment