1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. उत्तर प्रदेश में बिजली की बढ़ी दरें आज से लागू, समझिए कितना बढ़ेगा आपका बिजली बिल

उत्तर प्रदेश में बिजली की बढ़ी दरें आज से लागू, समझिए कितना बढ़ेगा आपका बिजली बिल

उत्तर प्रदेश में बिजली की नई दरें आज गुरुवार (12 सितंबर) से लागू हो जाएंगी। राज्य विद्युत नियामक आयोग ने सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं की बिजली दरों में औसतन 12 फीसदी तक इजाफा किया है। अनमीटर्ड ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं की दरों में 25 फीसदी की वृद्धि की गई है।

India TV Business Desk India TV Business Desk
Updated on: September 12, 2019 15:07 IST
increased electricity tariffs in up effective from today - India TV Paisa

increased electricity tariffs in up effective from today 

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में बिजली की नई दरें आज गुरुवार (12 सितंबर) से लागू हो गई हैं। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत नियामक आयोग ने सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं की बिजली दरों में औसतन 12 फीसदी तक इजाफा किया है। अनमीटर्ड ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं की दरों में 25 फीसदी की वृद्धि की गई है। शहरी घरेलू उपभोक्ताओं को अब फिक्स चार्ज के रूप में 10 रुपए प्रति किलोवाट के साथ ही बिजली के लिए 50-60 पैसे प्रति यूनिट ज्यादा भुगतान करना पड़ेगा। किसानों, कॉमर्शियल व औद्योगिक उपभोक्ताओं की जेब पर भी बोझ बढ़ जाएगा। 

उधर, बिजली में दर वृद्धि किए जाने से उपभोक्ता परिषद खासा आक्रोशित है। इस बार आयोग ने शहरी व ग्रामीण घरेलू, किसानों, कॉमर्शियल, औद्योगिक, अस्थायी कनेक्शन समेत श्रेणी की दरों में इजाफा किया है। अलबत्ता 4.28 फीसदी रेगुलेटरी सरचार्ज खत्म होने से थोड़ी राहत मिलेगी। 

राज्य विद्युत नियामक आयोग ने 3 सितंबर को 2019-20 की बिजली दरों का एलान किया था। पावर कॉर्पोरेशन की ओर से 5 सितंबर को नई दरों का सार्वजनिक प्रकाशन कराया गया था। कानूनन सार्वजनिक प्रकाशन के एक सप्ताह बाद नई दरें प्रभावी हो जाती हैं। इस लिहाज से नई दरें 12 सितंबर यानी आज से प्रभावी हो जाएंगी। 

पहले 11 दिन की खपत की गणना पुरानी दर से- नए टैरिफ के 12 तारीख से लागू होने के कारण शुरुआती 11 दिनों की बिजली खपत की गणना पुरानी दरों से की जाएगी लेकिन, 11 दिनों की खपत पूरे महीने के खर्च पर प्रतिदिन के औसत से निकाली जाएगी।

इस तरह समझें दर वृद्धि

प्रदेश के शहरी घरेलू बिजली उपभोक्ताओं की दरों में स्लैबवाइज लगभग 12 प्रतिशत की वृद्धि की गई है, वहीं उद्योगों की दरों में 5 से 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।

कुल टैरिफ बढ़ोत्तरी 12 से 15 प्रतिशत तक की गई है जबकि 4.8 प्रतिशत रेग्युलेटरी सरचार्ज समाप्त होने से थोड़ी राहत मिलेगी।

गांवों में घरेलू अनमीटर्ड बिजली उपभोक्ताओं को 400 रुपए प्रति किलोवाट प्रतिमाह के स्थान पर अब 500 रुपए प्रति किलोवाट प्रतिमाह के हिसाब से बिल का भुगतान करना पड़ेगा यानी कि 25 प्रतिशत वृद्धि।

अनमीटर्ड किसानों के बिल में 14 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी व शहरी बीपीएल उपभोक्ताओं के बिल में 36 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी।

शहरी उपभोक्ताओं को अब ज्यादा ढीली करनी होगी जेब
मद  पुरानी दरें  नई दरें
फिक्स चार्ज  100 रुपए 110 रुपए प्रति किलोवाट प्रतिमाह 
150 यूनिट तक 4.90 रुपए प्रति यूनिट 5.50 रुपए प्रति यूनिट
151 से 300 यूनिट तक 5.40 रुपए प्रति यूनिट 6 रुपए प्रति यूनिट
301 से 500 यूनिट तक 6.20 रुपए प्रति यूनिट 6.50 रुपए प्रति यूनिट
500 यूनिट से ऊपर 6.50 रुपए प्रति यूनिट   7 रुपए प्रति यूनिट  

ग्रामीण क्षेत्रों में फिक्स चार्ज के साथ दरें भी बढ़ीं

ग्रामीण क्षेत्रों के मीटर्ड उपभोक्ताओं का फिक्स चार्ज 80 से बढ़ाकर 90 रुपए प्रति किलोवाट प्रतिमाह तथा विद्युत मूल्य 3 रुपये प्रति यूनिट से बढ़ाकर 3.35 रुपए प्रति यूनिट किया गया है। 100 यूनिट तक 3.35 रुपए की दर रहेगी। 100 यूनिट से ऊपर 3.85 से 6 रुपए प्रति यूनिट की दर अलग-अलग स्लैब के लिए तय की गई है। मीटर्ड निजी नलकूप उपभोक्ताओं का फिक्स चार्ज 60 से बढ़ाकर 70 रुपए प्रति हॉर्स पावर प्रतिमाह तथा विद्युत मूल्य 1.75 रुपए प्रति यूनिट से बढ़ाकर 2 रुपए प्रति यूनिट कर दिया गया है। गांव के अनमीटर्ड किसानों को 150 रुपए प्रति हॉर्स पावर प्रतिमाह के बजाय अब 170 रुपए प्रति हॉर्स पावर की दर से भुगतान करना पड़ेगा यानी कि उसकी दरों में लगभग 14 प्रतिशत की वृद्धि की गई है।
Write a comment