1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. देशभर में प्‍याज कारोबारियों के यहां इनकम टैक्‍स का छापा, जमाखोरी और कीमत में कृत्रिम तेजी लाने का है आरोप

देशभर में प्‍याज कारोबारियों के यहां इनकम टैक्‍स का छापा, जमाखोरी और कीमत में कृत्रिम तेजी लाने का है आरोप

आयकर विभाग ने देशभर में 100 से अधिक स्‍थानों पर छापे की यह कार्रवाई की है।

Atul Bhatia Atul Bhatia
Published on: November 11, 2019 14:25 IST
Income Tax department raids onion dealers across country- India TV Paisa
Photo:INCOME TAX DEPARTMENT

Income Tax department raids onion dealers across country

नई दिल्‍ली। देश में प्‍याज की आवक बढ़ने के बावजूद कीमतों में कमी न आने के बाद सरकार ने सख्‍त कदम उठाया है। देशभर में प्‍याज कारोबारियों द्वारा प्‍याज की जमाखोरी करने और कीमतों में कृत्रिमरूप से तेजी लाने की जानकारी मिलने के बाद आयकर विभाग ने देशभर में प्‍याज कारोबारियों के यहां छापा मारा है।

आयकर विभाग ने देशभर में 100 से अधिक स्‍थानों पर छापे की यह कार्रवाई की है। आयकर विभाग ने दिल्‍ली, राजस्‍थान, गुजरात, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, नागपुर, नासिक और मुंबई में प्‍याज कारोबारियों के यहां छापा मारा है।

आवक बढ़ने के बावजूद कम नहीं हो रही कीमत

देशभर की मंडियों में प्याज की आपूर्ति बढ़ाने की तमाम कोशिशों के बावजूद इसकी कीमतों में वृद्धि का सिलसिला जारी है। देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में सोमवार को प्याज की आवक में वृद्धि होने के बावजूद कीमत घटने के बजाए बढ़ ही गई। कारोबारियों ने बताया कि आजादपुर मंडी में प्याज के थोक दाम में करीब पांच रुपए प्रति किलो यानी 500 रुपए प्रति क्विंटल की वृद्धि दर्ज की गई।

आजादपुर मंडी में शनिवार को जहां प्याज का थोक भाव 35-55 रुपए प्रति किलो था वहीं सोमवार को थोक भाव 40-60 रुपए प्रति किलो हो गया। दिल्ली-एनसीआर के बाजारों में खुदरा कारोबारी 80-100 रुपए प्रति किलो की दर से प्याज बेच रहे हैं।

आजादपुर मंडी के कारोबारी और ऑनियन मर्चेंट एसोसिएशन के प्रेसीडेंट राजेंद्र शर्मा ने बताया कि बारिश के कारण महाराष्ट्र समेत सभी प्रमुख प्याज उत्पादक प्रदेशों में नई फसल को काफी नुकसान हुआ है, जबकि पुराने प्याज का स्टॉक बहुत कम बचा हुआ है, इसलिए कीमतों में और वृद्धि होने की संभावना है। पिछले साल 2018-19 में देश में प्याज का उत्पादन 234.85 लाख टन था।

एक लाख टन प्‍याज का होगा आयात

केंद्र सरकार ने प्याज के दाम को काबू में रखने के मकसद से पिछले सप्ताह एक लाख टन प्याज का आयात करने का फैसला लिया। केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने विदेश व्यापार करने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एमएमटीसी को एक लाख टन प्याज का आयात करने का निर्देश दिया है।

केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामले के मंत्री रामविलास पासवान ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से बताया कि सरकार ने एक लाख टन प्याज आयात करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्याज की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए एक लाख टन प्याज के आयात का फैसला लिया है। एमएमटीसी 15 नवंबर से 15 दिसंबर के बीच आयातित प्याज देश में वितरण के लिए उपलब्ध कराएगा और नैफेड को देश के हर हिस्से में प्याज का वितरण करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

Write a comment
bigg-boss-13