1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. कालाधन से लड़ाई के लिए सरकार को मिल सकता है बड़ा हथियार, HSBC का पूर्वकर्मी मदद को तैयार!

कालाधन से लड़ाई के लिए सरकार को मिल सकता है बड़ा हथियार, HSBC का पूर्वकर्मी मदद को तैयार!

एचएसबीसी बैंक में कालाधन रखने वालों के नाम बताने वाले पूर्वकर्मी फल्सियानी ने कहा है कि वह भारत सरकार की मदद कर सकता है, इसके लिए उसने एक शर्त भी रखी है।

Shubham Shankdhar [Updated:05 Nov 2015, 5:16 PM IST]
कालाधन से लड़ाई के लिए सरकार को मिल सकता है बड़ा हथियार, HSBC का पूर्वकर्मी मदद को तैयार!- India TV Paisa
कालाधन से लड़ाई के लिए सरकार को मिल सकता है बड़ा हथियार, HSBC का पूर्वकर्मी मदद को तैयार!

नई दिल्‍ली। विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाने और इसे देश से बाहर जाने से रोकने की लड़ाई में सरकार को एक बड़ा हथियार मिल सकता है। एचएसबीसी बैंक में कालाधन रखने वालों के नाम बताने वाले पूर्वकर्मी फल्सियानी ने सोमवार को कहा है कि वह भारत सरकार की मदद कर सकता है, इसके लिए उसने एक शर्त भी रखी है। यदि भारत सरकार उसकी यह शर्त मान लेती है, तो कालेधन के बारे में कई बड़े खुलासे के साथ ही इससे निपटने में भी सरकार को बड़ी मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें – D-Code: Swiss Bank की खुली पोल, फि‍ल्‍मों की तरह कोड-वर्ड का होता था इस्‍तेमाल

फल्सियानी ने दावा किया कि भारत से करोड़ों रुपए का कालाधन आज भी बाहर भेजा जा रहा है। हालांकि उसने कहा कि वह कालेधन की जांच के मामले में भारतीय जांच एजेंसियों का सहयोग करने को तैयार है, लेकिन भारत को इसके बदले उसे अपने यहां संरक्षण देना होगा। फल्सियानी पर स्विट्जरलैंड में एचएसबीसी की जिनेवा शाखा के खाताधारकों से जुड़ी जानकारी लीक करने का आरोप है। यह सूची बाद में फ्रांस सरकार के हाथ लगी और फ्रांस सरकार ने बैंक के भारतीय ग्राहकों के बारे में सूचनाएं भारत सरकार को दी हैं।

स्काइप लिंक के जरिये मीडियाकर्मियों से बातचीत में फल्सियानी ने दावा किया कि भारत से करोड़ों रुपए का कालाधन बाहर भेजा जा रहा है। यह पूछे जाने पर कि क्या वह भारत के साथ सूचनाएं साझा करके कुछ कमाई करना चाहता है, तो उसने जवाद दिया कि यह धन कमाने की बात नहीं है। मैं अमीर नहीं बनना चाहता। फल्सियानी ने कहा कि वह यहां धन का आंकड़ा प्रस्तुत करने नहीं आया है, बल्कि संभावित समाधानों पर चर्चा करना चाहता है। उसने कहा कि सरकारों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि व्हिसलब्लोअर को सुरक्षा मिले। हमें सिर्फ सुरक्षा चाहिए। उसने कहा कि हमें कोई संरक्षण नहीं है। यदि मैं भारत आता हूं तो मुझे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Web Title: कालाधन पर एचएसबीसी का पूर्व कर्मी भारत की मदद के लिए तैयार
Write a comment