1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. इकोनॉमिक ग्रोथ के लिए सबसे बड़ा रिस्‍क है क्रूड ऑयल की बढ़ती कीमतें, ईंधन के दाम में छूट खत्‍म करने से होगा लाभ

देश की इकोनॉमिक ग्रोथ के लिए सबसे बड़ा रिस्‍क है क्रूड ऑयल की बढ़ती कीमतें, ईंधन के दाम में छूट खत्‍म करने से होगा लाभ

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने बुधवार को कहा है कि कच्चे तेल (क्रूड ऑयल) की ऊंची कीमतें देश की आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम हैं। हालांकि पेट्रोल एवं डीजल पर दी जाने वाली छूट में सुधार से जोखिम कम हुआ है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: July 04, 2018 13:42 IST
Crude Oil- India TV Paisa

Crude Oil

नई दिल्ली। क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने बुधवार को कहा है कि कच्चे तेल (क्रूड ऑयल) की ऊंची कीमतें देश की आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम हैं। हालांकि पेट्रोल एवं डीजल पर दी जाने वाली छूट में सुधार से जोखिम कम हुआ है। मूडीज और उसकी सहयोगी इकाई इक्रा द्वारा किए गए सर्वेक्षण में निवेशकों ने कच्चे तेल की अधिक कीमतों को आर्थिक वृद्धि के लिए मुख्य जोखिम बताया और कहा कि 3.3 प्रतिशत राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को प्राप्त करना मुश्किल है।

निवेशकों ने कहा कि सार्वजनिक बैंकों के पुनर्पूंजीकरण की सरकार की योजना पर्याप्त नहीं है क्योंकि बैंक योजना के हिसाब से पूंजी नहीं जुटा पाये हैं।

मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि सर्वेक्षण में शामिल लोगों की राय की तरह हम भी कच्चे तेल की अधिक कीमतों को आर्थिक वृद्धि के लिए जोखिम मानते हैं। हालांकि, पेट्रोल एवं डीजल पर दी जाने वाली छूट खत्म करने से जोखिम कम हुआ है। अब सिर्फ किरोसिन तेल और LPG (रसोई गैस) पर ही छूट दी जाती है।

सार्वजनिक बैंकों के रीकैपिटलाइजेशन की योजना के बारे में मूडीज ने कहा कि हमें उम्मीद है कि पुनर्पूंजीकरण न्यूनतम नियामकीय पूंजी जरूरतों की पूर्ति में पर्याप्त होगा पर यह ऋण वृद्धि को बढ़ाने में अपर्याप्त होगा। उसने कहा कि बैंक, सरकार के रीकैपिटलाइजेशन की योजना के हिसाब से शेयर बाजारों से पूंजी जुटा नहीं पाए हैं।

Write a comment