1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत को पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षक बनाने का सपना पड़ा धुंधला, विदेशी पर्यटकों की संख्‍या नहीं बढ़ी ज्‍यादा

भारत को पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षक बनाने का सपना पड़ा धुंधला, विदेशी पर्यटकों की संख्‍या नहीं बढ़ी ज्‍यादा

देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए किए गए तमाम प्रयासों का परिणाम संतोषजनक नहीं रहा है। अच्‍छे नतीजों के लिए अभी और प्रयास करने की जरूरत है।

Dharmender Chaudhary [Updated:25 Nov 2015, 7:37 AM IST]
भारत को पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षक बनाने का सपना पड़ा धुंधला, विदेशी पर्यटकों की संख्‍या नहीं बढ़ी ज्‍यादा- India TV Paisa
भारत को पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षक बनाने का सपना पड़ा धुंधला, विदेशी पर्यटकों की संख्‍या नहीं बढ़ी ज्‍यादा

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भारत को वैश्‍विक पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षक स्‍थान पर पहुंचाने का सपना धुंधला पड़ता नजर आ रहा है। देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए किए गए तमाम प्रयासों का परिणाम संतोषजनक नहीं रहा है। अच्‍छे नतीजों के लिए अभी और प्रयास करने की जरूरत है। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक इस साल अब तक देश में विदेशी पर्यटकों की संख्‍या में वृद्धि का आंकड़ा दो अंकों में भी नहीं पहुंच पाया है। वहीं दूसरी ओर लगातार बढ़ते आतंकी हमलों की वजह से अमेरिका सहित कई देशों ने अपने नागरिकों के लिए यात्रा चेतावनी जारी की है, जिससे पर्यटन उद्योग को और झटका लग सकता है।

पिछले वर्ष के मुकाबले इस साल जनवरी से अक्टूबर तक विदेशी पर्यटकों की संख्या महज 4 फीसदी बढ़ी है। पिछले तीन सालों के आंकड़ों पर गौर करें तो पर्यटन क्षेत्र के लिए यह साल सबसे कमजोर रहा है। 2014 के दौरान विदेशी पर्यटकों की संख्या 10 फीसदी से ज्यादा बढ़ी थी। साल 2013 में यह दर 5.9 फीसदी रही थी। सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद भारत विदेशी पर्यटकों को नहीं भा रहा है। विदेशी पर्यटकों की संख्या 3 साल में सबसे कम हो गई है। 2014 के मुकाबले विदेशी पर्यटकों की संख्या घटी है। पिछले साल के 7.68 लाख पर्यटकों के मुकाबले इस साल अक्टूबर तक 6.58 लाख पर्यटक भारत में आए हैं।

भारत में पर्यटन उद्योग

भारत में पर्यटन उद्योग एक बहुत बड़ा उद्योग है। कुल जीडीपी में पर्यटन उद्योग की हिस्‍सेदारी 6.5 फीसदी है। इस सेक्‍टर में करीब चार करोड़ लोगों को रोजगार मिला हुआ है। देश में पर्यटन व्यावसाय को अन्य देशों से कड़ा मुकाबला मिल रहा है। सुरक्षा का मुद्दा भी पर्यटकों में कमी की वजह रही है। गौरतलब है कि पिछले साल सरकार ने 113 देशों के साथ ई-टूरिस्ट सेवा की शुरुआत की थी, लेकिन इसका भी खास असर होता हुआ नहीं दिख रहा है।

अक्टूबर में भी नहीं बढ़ी संख्‍या

विदेशी पर्यटकों की संख्‍या अक्टूबर में भी काफी कम रही है। अच्छे मौसम की वजह से अक्टूबर पर्यटन के लिहाज से अनुकूल माना जाता है। लेकिन इस दौरान भी भारत को लेकर अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों का आकर्षण कम रहा। पिछले वर्ष की तुलना में इस साल अक्टूबर में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की संख्या में महज 1.7 फीसदी की वृद्धि हुई, जो पिछले 6 महीनों में सबसे कम रही। पिछले साल अक्टूबर में विदेशी पर्यटकों की तादाद 9.6 फीसदी बढ़ी थी।

विदेशी आय भी घटी

विदेशी पर्यटक अपने साथ-साथ देश में विदेशी मुद्रा भी लाते हैं। जनवरी-अक्टूबर 2015 के दौरान इस क्षेत्र से करीब 101,348 करोड़ रुपए की कमाई हुई है, पिछले साल के मुकाबले इसमें महज 2.5 फीसदी का ही इजाफा हुआ है। नवंबर, 2014 में सरकार ने विदेशी पर्यटकों का आगमन आसान बनाने के लिए 113 देशों के यात्रियों के लिए 16 हवाई अड्डों पर ई-टूरिस्ट वीजा सुविधा शुरू की थी। लेकिन, इसका खास फायदा नहीं हुआ।

अमेरिका ने दी यात्रा चेतावनी

अमेरिका ने एक वैश्विक यात्रा परामर्श जारी करते हुए अपने नागरिकों को यात्रा संबंधी चेतावनी दी है, जिससे आगमी समय में पर्यटकों की संख्‍या बढ़ने की संभावना बिल्‍कुल नहीं है। अमेरिका ने पेरिस और माली में हुए हमलों के बाद खूंखार इस्लामिक स्टेट और अन्य आतंकवादी समूहों के तेज हुए आतंकवादी खतरों के कारण संभावित जोखिम के संबंध में सतर्क किया है। यह चेतावनी 24 फरवरी तक के लिए है।

Web Title: भारत के पर्यटन उद्योग को झटका, नहीं बढ़ी विदेशी पर्यटकों की संख्‍या
Write a comment