1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. IDBI बैंक के ग्रॉस NPA में RBI के अनुमान से आई कहीं ज्‍यादा कमी, मार्च 2016 के अंत तक यह 6,816 करोड़ रहा

IDBI बैंक के ग्रॉस NPA में RBI के अनुमान से आई कहीं ज्‍यादा कमी, मार्च 2016 के अंत तक यह 6,816 करोड़ रहा

सार्वजनिक क्षेत्र के IDBI बैंक की सकल गैर निष्पादित परिसंपत्तियां (NPA) मार्च 2016 के अंत तक रिजर्व बैंक (RBI) के अनुमान से 6,816.60 करोड़ रुपए कम रहीं।

Manish Mishra [Updated:12 Jul 2017, 4:33 PM IST]
IDBI बैंक के ग्रॉस NPA में आई RBI के अनुमान से कहीं ज्‍यादा कमी, मार्च 2016 के अंत तक यह 6,816 करोड़ रहा- India TV Paisa
IDBI बैंक के ग्रॉस NPA में आई RBI के अनुमान से कहीं ज्‍यादा कमी, मार्च 2016 के अंत तक यह 6,816 करोड़ रहा

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के IDBI बैंक की सकल गैर निष्पादित परिसंपत्तियां (NPA) मार्च 2016 के अंत तक रिजर्व बैंक (RBI) के अनुमान से 6,816.60 करोड़ रुपए कम रहीं। IDBI बैंक की सालाना रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया है। बैंक की 2016-17 की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, 31 मार्च 2016 के अंत तक बैंक का सकल NPA या फंसा कर्ज 24,875.07 करोड़ रुपए रहा। जबकि RBI ने इस अवधि तक बैंक का सकल NPA 31,691.67 करोड़ रुपए रहने का अनुमान लगाया था। इस तरह बैंक का सकल NPA रिजर्व बैंक के अनुमान से 6,816.60 करोड़ रुपए कम रहा है।

यह भी पढ़ें : लीक हुआ Reliance Jio का ब्रॉडबैंड प्लान, 3 महीने के लिए मुफ्त होगा 100mbps की स्पीड से 100GB डाटा

वहीं शुद्ध NPA के मामले में इस अवधि के लिए यह अंतर 4,755.60 करोड़ रुपए रहा है। मार्च, 2016 के अंत तक बैंक का शुद्ध NPA 14,643.39 करोड़ रुपए रहा है जबकि केंद्रीय बैंक ने इसके 19,398.99 करोड़ रुपए रहने का अनुमान लगाया था। वित्‍त वर्ष 2015-16 के दौरान बैंक का शुद्ध घाटा 3,664.80 करोड़ रुपए रहा था।

यह भी पढ़ें : SBI ने दिया ग्राहकों को तोहफा: 1,000 रुपए तक के ट्रांजैक्‍शन पर IMPS चार्ज किया खत्म, डिजिटल लेनदेन को मिलेगा

वार्षकि रिपोर्ट के अनुसार, 20 बड़े कर्जदारों को बैंक द्वारा मार्च, 2016 के अंत तक 62,329.21 करोड़ रुपए का ऋण दिया गया था, जो उसके कुल ऋण का 14.55 प्रतिशत बैठता है। यह 31 मार्च, 2017 को बढ़कर कुल ऋण का 15.53 प्रतिशत यानी 63,967.81 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

Web Title: IDBI बैंक के ग्रॉस NPA में RBI के अनुमान से आई कहीं ज्‍यादा कमी
Write a comment